Home Breaking News मुरैना जहरीली शराबकांड:मृतकों के परिजनों का हंगामा,कमलनाथ का वार,SP पर गिर सकती...

मुरैना जहरीली शराबकांड:मृतकों के परिजनों का हंगामा,कमलनाथ का वार,SP पर गिर सकती है गाज

भोपाल/मुरैना/मध्यप्रदेश।

रतलाम और उज्जैन के बाद मुरैना में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत के बाद हड़कंप मच गया है।
मुरैना जिले में जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत के बाद लोगों का गुस्सा भड़क गया है। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है, इलाके में तनाव है। लोगों ने पुलिस की किसी प्रकार की मदद देने से इनकार कर दिया है और वहां से जाने को कह दिया है। लोगों की मौत के बाद जब पुलिस प्रशासन ने वहां शव को ले जाने के लिए एंबुलेंस मनाई तो लोगों को गुस्सा और ज्यादा भड़क गया। उनका कहना था कि जब 2 दिन से लोग बीमार पड़ रहे थे, तब कोई मदद नहीं की गई। यहां तक कह दिया कि अपने अपने वाहन से मरीजों को अस्पताल तक ले चलो अब जब लोग की मौत हो गई तो प्रशासन एंबुलेंस लेकर आए।
मुरैना में शराब से मौत के बाद आज सुबह जैसे ही लोगों की खबर लगी। उसके बाद वहां सैकड़ों की संख्या में भीड़ इकट्ठी हो गई। लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। लोगों का कहना था कि जिले से लेकर भोपाल तक आला अधिकारी और मुख्यमंत्री तक सभी को पता है कि मुरैना के ग्रामीण अंचलों में किस तरह से अवैध शराब का कारोबार चल रहा है। यहां जुआ सट्टा थानों के जानकारी में चल रहा है। युवा इसकी लत में फंस रहे है और आज इतना बड़ा घटनाक्रम हो गया। लोगों ने पुलिस पर अवैध शराब न पकड़ने और खुलेआम शराब बिकने के आरोप भी लगाए है। इस दौरान पुलिस ने जैसे तैसे लोगों को शांत करवाया और स्थिति को संभाला। फिलहाल मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। इस घटना के बाद पुलिस और प्रशासन सवालों के घेरे मे आ गया है।

परिजनों ने शव रखकर चक्काजाम किया

जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत के बाद बवाल मच गया है। परिजनों ने जौरा रोड़ पर शव रख चक्काजाम कर दिया है। परिजनों ने माँग की है कि घर के सदस्य को सरकारी नौकरी और आर्थिक सहायता दी जाएगा। वही वे कलेक्टर को बुलाने की मांग पर भी अड़ गए है। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर शिवराज सरकार पर निशाना साधा

मुरैना में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत के बाद मध्यप्रदेश में बवाल मच गया है। इस मामले में थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है और पूरे मामले की जांच की जा रही है। वही दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से सवाल किया है कि आखिर कब तक शराब माफ़िया यूँ ही लोगों की जान लेते रहेंगे ?
कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि शराब माफ़ियाओ का क़हर जारी है। उज्जैन में 16 जान लेने के बाद अब मुरैना में शराब माफ़ियाओ ने 10 के क़रीब लोगों की जान ले ली। शिवराज जी, शराब माफ़िया आख़िर कब तक यूँ ही लोगों की जान लेते रहेंगे ? सरकार बीमार लोगों का समुचित इलाज करवाये और पीड़ित परिवारों की हरसंभव मदद करे।
अगले ट्वीट में कमलनाथ ने लिखा है कि गाढ़ दूँगा , टाँग दूँगा , लटका दूँगा ,सब दिखावटी व गुमराह करने वाली बाते ? भाजपा सरकार में माफ़ियाओ के हौसले बुलंद , सारी कार्यवाही दिखावटी , बड़े माफिया अभी भी निर्भीक होकर अपने कार्यों को अंजाम दे रहे है। जिन माफ़ियाओ को हमने नेस्तनाबूद किया था आज वो भाजपा सरकार आते ही फिर मैदान में।

मुरैना एसपी व आबकारी अधिकारी पर गिर सकती है गाज

पुलिस अधीक्षक मुरैना अनुराग सुजानिया

प्राप्त जानकारी के अनुसार,पिछले काफी लंबे समय से मुरैना में अवैध शराब का कारोबार चल रहा है और पुलिस और आबकारी विभाग के संरक्षण में धंधा फलता फूलता जा रहा है। उज्जैन शराब कांड के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कड़ी कार्रवाई करते हुए वहां के एसपी और आबकारी अधिकारी को हटाने के निर्देश दिए थे और इस बात की व्यापक संभावना है कि कैबिनेट बैठक के तुरंत बाद मुख्यमंत्री मुरैना के एसपी और जिला आबकारी अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर सकते हैं।
बता दे कि यह पहला मौका नहीं है जब मुरैना के पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया विवादों के घेरे में आए हो। पिछले दिनों एक एसडीओपी का निलंबित पुलिसकर्मी के साथ ऑडियो वायरल हुआ था जिसमें एसपी के नाम पर वसूली के आरोप लगे थे।
इसके बाद सहारा इंडिया कंपनी से पैसे न मिलने की शिकायत कुछ निवेश कर्ताओं ने की थी और यह आरोप लगाया था कि कंपनी के एजेंट और मैनेजर एसपी और मुरैना पुलिस के नाम पर वसूली कर रहे हैं। मुख्यमंत्री एक और मध्य प्रदेश में लगातार सुशासन के लिए संदेश दे रहे हैं और पिछली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उन्होंने साफ तौर पर एसपी और कलेक्टर को किसी भी ऐसी घटना के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार होने की बात कही थी।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोकायुक्त ने नामांतरण के बदले 20 हज़ार की रिश्वत लेते क्लर्क को रंगे हाथों गिरफ्तार किया

बता दें कि आज लोकायुक्त की टीम ने राजस्व विभाग के बाबू को 20 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। बाबू...

दबंगों की धमकी से परेशान हेड कांस्टेबल ने खुद को गोली मारी,परिजनों के आरोप विभाग वालों की ही सुनवाई नहीं

बता दें कि श्यामाचरण द्विवेदी की मौत के बाद बैकफुट आयी पुलिस ने आरोपितों के विरुद्ध आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज...

खुल्लम खुल्ला रिश्वत लेते दरोगा का वीडियो वायरल,जांच के आदेश

शिवपुरी/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में रिश्वत का खेल थमने का नाम नही ले रहा है ताज़ा मामला मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले से है। जहाँ एक पोस्ट सोशल...

रिटायर्ड SDO ने लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मारी,मौत

बता दें कि बहोड़ापुर के विनय नगर सेक्टर चार में रहने वाले सिंचाई विभाग के रिटायर्ड अधिकारी ने आज खुद को लाइसेंसी बंदूक से...
error: Content is protected !!