Home Breaking News रिश्वतखोरों पर लोकायुक्त का शिकंजा:भोपाल में चौकी प्रभारी,सिंगरौली में प्रधान आरक्षक हत्थे...

रिश्वतखोरों पर लोकायुक्त का शिकंजा:भोपाल में चौकी प्रभारी,सिंगरौली में प्रधान आरक्षक हत्थे चढ़ा

भोपाल/सिंगरौली/मप्र।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के बैरसिया थाना के ललरिया चौकी प्रभारी को लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी चौकी प्रभारी मारपीट के मामले शामिल एक आरोपी से जिलाबदर न करने के लिए रिश्वत ले रहा था।
दरअसल,बैरसिया थाना के ललरिया चौकी प्रभारी ने एक व्यक्ति से 15 हजार की रिश्वत मांगी थी। जब वह रिश्वत देने पहुंचा तो चौकी प्रभारी ने चतुराई दिखाते हुए सीधे रिश्वत न लेकर अपने एक परिचित की मदद ली। लोकायुक्त की टीम ने 11 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए इन्हें रंगे हाथों धर दबोचा। इससे पहले आरोपित पीड़ित आवेदक से वह चार हजार रुपये ले चुके थे।

क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार,लोकायुक्त पुलिस के अनुसार ग्राम डंगरौली थाना बैरसिया निवासी दरबार सिंह ने लोकायुक्त भोपाल को शिकायत करते हुए बताया था कि उसके खिलाफ थाने में मारपीट का प्रकरण दर्ज था। इसी मामले में चौकी प्रभारी सहायक उपनिरीक्षक मुकेश मीणा, आरक्षक दीपक सोनी, आरक्षक बुंदेल अहिरवार द्वारा जमानत एवं जिलाबदर न करने के बदले में 15 हजार रुपये की रिश्‍वत मांगी गई थी। इस पर पीड़ित ने लोकायुक्‍त में शिकायत कर दी। एसपी लोकायुक्त मनु व्यास ने शिकायत का सत्यापन कराने के बाद टीम का गठन किया। इससे पहले ही आरोपितों ने आवेदक से चार हजार रुपये 13 मई को ले लिए थे। इसके बाद बुधवार को तीनों आरोपित शेष रिश्वत राशि 11 हजार रुपये एक परिचित करण सिंह के माध्यम से ले रहे थे, तभी लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

लोकायुक्त ने 5 हज़ार की रिश्वत लेते प्रधान आरक्षक को रंगे हाथों दबोचा



सिंगरौली/मध्यप्रदेश।

मध्यप्रदेश के सिंगरौली में आज फिर से रीवा की लोकायुक्त टीम ने एक प्रधान आरक्षक को रिश्वत लेते हुये रंगे हाथ पकड़ा है। आपको बता दें की सिंगरौली जिले के बरगवां थाना क्षेत्र पुलिस सहायता केंद्र गोनर्रा में पदस्थ प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका को आज देवसर न्यायालय परिसर के सामने से रीवा की लोकायुक्त टीम ने 5 हज़ार रुपये रिश्वत लेते हुये को रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार,सिंगरौली के विद्यासागर प्रजापति पिता श्री रामकरण प्रजापति 32 वर्ष से गोनर्रा पुलिस सहायता केंद्र में पदस्थ प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका ने मारपीट के मामले को सुलझाने के लिए पहले ही पांच हजार रूपये ले चुके थे। उसके बाद भी पीड़ित विद्यासागर से प्रधान आरक्षक शिवकुमार पनिका पांच हजार की और मांग कर रहे थे।
जिसकी पोड़ी-3 दुधमनिया निवासी विद्यासागर ने लोकायुक्त रीवा से शिकायत की थी कि मारपीट के मामले को समझौता कराने के लिए पुलिस सहायता केंद्र गोनर्रा में पदस्थ प्रधान आरक्षक शिव कुमार और पांच हजार रुपये की रिश्वत मांग कर रहे हैं। जबकि इससे पहले भी वह इस मामले में 5000 रुपये ले चुके हैं।
शिकायत के पश्चात रीवा की लोकायुक्त टीम ने प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका को आज देवसर न्यायालय परिसर के सामने से 5 हज़ार रुपये रिश्वत लेते हुये प्रधान आरक्षक को रंगे हाथ गिरफ्तार कर ली है।

शिकायत पर कार्रवाई करने के लिए रीवा की लोकायुक्त टीम के उप-पुलिस अधीक्षक राजेश पाठक, निरीक्षक जियाउल हक एवं 8 सदस्यीय टीम ने प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका को गिरफ्तार किया।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

प्रेम प्रसंग के चलते भोपाल के TI हाकम सिंह पवार ने इंदौर में किया सुसाइड:​​​​​​​महिला SI को भी गोली मारी

बता दें कि भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पदस्थ टीआई हाकम सिंह पंवार ने इंदौर के पुलिस कंट्रोल रूम में खुद को गोली...

ईओडब्ल्यू (EOW) ने पटवारी काे 20 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा,काली कमाई की जांच में जुटी टीम

मुरैना/मध्यप्रदेश। रिश्वतखोर अधिकारी और कर्मचारियों पर लगातार भ्रष्टाचार निरोधक एजेंसियां कार्रवाई कर रही हैं लेकिन घूसखोरी कम होने का नाम नहीं ले रही है। दरअसल,ग्वालियर आर्थिक...

स्पा सेंटर की आड़ में सेक्स रैकेट:SSP ऑफिस से चंद कदम की दूरी पर,स्पा सेंटर की आड़ में देह व्यापार का धंधा

बता दें कि पिछले पखवाड़े क्राइम ब्रांच, मुरार और सिरोल थाना पुलिस ने एक आयुर्वेद स्पा के नाम पर देह व्यापार कराने वाले सेंटर...

जिलाध्यक्ष की मदिरा पर चर्चा:कांग्रेस ने ग्वालियर भाजपा जिलाध्यक्ष का शराब पीते वीडियों शेयर किया

बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री उमाभारती प्रदेश में पूर्ण शराब बंदी की मुहिम छेड़े हुए हैं ,मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शराब को अच्छा...
error: Content is protected !!