Home Breaking News लोकायुक्त ने 4 रिश्वतखोरों को धर दबोचा:महिला एवं बाल विकास की 2...

लोकायुक्त ने 4 रिश्वतखोरों को धर दबोचा:महिला एवं बाल विकास की 2 महिला अधिकारी,फिर गृह निर्माण समिति के प्रबंधक और डायरेक्टर हत्थे चढ़े

बता दें कि मध्याह्न भोजन का बिल पास करने के नाम पर महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज की परियोजना अधिकारी माया सोनी और सेक्टर पर्यवेक्षक अंजू त्रिपाठी ने 20 हजार रुपये मांग रही थीं। साथ ही एडवांस के रूप में 5 हजार रुपये ले चुकी थीं।

इसके बाद रीवा शहर में अनंतपुर गृह निर्माण सहकारी समिति के प्रबंधक संतोष दुबे और गोमेश द्विवेदी डायरेक्टर को 25 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा।


रीवा/मध्यप्रदेश।

लोकायुक्त पुलिस ने शुक्रवार को रीवा में दो जगह ट्रेप कार्रवाई करते हुए चार लोगों को रंगे हाथ रिश्वत लेते पकड़ा है।
मध्यप्रदेश प्रशासन में घूसखोरी किस तरह व्याप्त है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि
कि अब महिला अधिकारी व कर्मचारी भी रिश्वत लेने से नहीं चूक रही हैं।
दरअसल,रीवा लोकायुक्त टीम ने महिला एवं बाल विकास विभाग में छापा मारकर दो भ्रष्टाचारी महिला अधिकारियों को बेनकाब किया है। सूत्रों की मानें तो मऊगंज की परियोजना अधिकारी और सेक्टर पर्यवेक्षक को 10 हजार की रिश्वत के साथ ट्रेप किया गया है। दावा है दोनों महिला अधिकारियों ने समूह संचालक से घूस मांगी थी। लेकिन बिना पैसे लिए काम करने को तैयार नहीं थी।
थक हारकर समूह संचालक लोकायुक्त एसपी के पास शिकायत लेकर पहुंचा। जहां सत्यापन उपरांत शिकायत सही पाई गई। ऐसे में शुक्रवार की शाम महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज से दोनों को रकम के साथ रंगे हाथ पकड़ा है। लोकायुक्त टीम दोनों अधिकारियों को लेकर विश्राम गृह पहुंची है। जहां भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

वहीं दूसरी कार्रवाई शुक्रवार की शाम 5 बजे हुई। यहां अनंतपुर गृह निर्माण सहकारी समिति के प्रबंधक संतोष दुबे और गोमेश द्विवेदी डायरेक्टर को 25 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा।

क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार,लोकायुक्त एसपी गोपाल सिंह धाकड़ ने बताया कि शुक्रवार की शाम माया सोनी परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज और अंजू त्रिपाठी सेक्टर पर्यवेक्षक महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है। इनके खिलाफ शिकायतकर्ता राजेश वर्मा पुत्र सहदेव दास वर्मा (41) निवासी वार्ड नंबर 6 मऊगंज ने कुछ दिन पहले ​एसपी कार्यालय पहुंचकर ​आवेदन ​दिया था।
पीड़ित का आरोप था कि मध्‍यान्‍ह भोजन का बिल पास करने के एवज में दोनों महिला अधिकारी 20 हजार रुपए की डिमांड की थी। साथ ही एडवांस रकम के रूप में 5 हजार रुपए ले चुकी थी। फिर भी शिकायतकर्ता को पूर्व के बिल कैंसिल कर देने का डर बताकर लगातर पैसे मांग रही थी। सत्यापन के बाद शिकायत सही पाए जाने पर शुक्रवार को ​दबिश के लिए ट्रेप अधिकारी निरीक्षक प्रमेंद्र कुमार को मौके पर भेजा गया।

इनका कहना

लोकायुक्त एसपी ने बताया कि ट्रेप दल के सदस्य डीएसपी राजेश पाठक, निरीक्षक प्रमेंद्र कुमार, उपनिरीक्षक रितुका शुक्ला, उपनिरीक्षक आकांक्षा पाण्डेय व 12 सदस्यीय टीम महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज में दोनों महिला अधिकारियों के कक्ष में एक साथ दबिश दी। केबिन के अंदर जैसे ही पीड़ित ने रिश्वत के 10 हजार रुपए सौंपे। वैसे ही सिविल कपड़े में खड़ी लोकायुक्त की टीम ने रुपयों के साथ दोनों को धर दबोचा है।

अनंतपुर गृह निर्माण समिति के दो अधिकारी 25 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार



वहीं दूसरे प्रकरण में अनंतपुर गृह निर्माण सहकारी समिति मर्यादित जिला रीवा के प्रबंधक संतोष दुबे एवं डायरेक्टर गोमेश द्विवेदी पर लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत लेते पकड़ा है। इन लोगों के खिलाफ अशोक कुमार मिश्र 63 वर्ष निवासी वार्ड नंबर 10 गायत्री नगर मेन रोड रीवा ने शिकायत की थी। प्लाट की एनओसी देने के लिए रिश्वत मांगी गई थी।

गोपाल सिंह धाकड़, (एसपी लोकायुक्त) ने बताया कि अनंतपुर गृह निर्माण समिति एवं महिला-बाल विकास से संबंधित शिकायतें लोकायुक्त कार्यालय आई थी। जिनकी तस्दीक के बाद प्रकरण कायम कर ट्रेप कार्रवाई की गयी है।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

प्रेम प्रसंग के चलते भोपाल के TI हाकम सिंह पवार ने इंदौर में किया सुसाइड:​​​​​​​महिला SI को भी गोली मारी

बता दें कि भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पदस्थ टीआई हाकम सिंह पंवार ने इंदौर के पुलिस कंट्रोल रूम में खुद को गोली...

ईओडब्ल्यू (EOW) ने पटवारी काे 20 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा,काली कमाई की जांच में जुटी टीम

मुरैना/मध्यप्रदेश। रिश्वतखोर अधिकारी और कर्मचारियों पर लगातार भ्रष्टाचार निरोधक एजेंसियां कार्रवाई कर रही हैं लेकिन घूसखोरी कम होने का नाम नहीं ले रही है। दरअसल,ग्वालियर आर्थिक...

स्पा सेंटर की आड़ में सेक्स रैकेट:SSP ऑफिस से चंद कदम की दूरी पर,स्पा सेंटर की आड़ में देह व्यापार का धंधा

बता दें कि पिछले पखवाड़े क्राइम ब्रांच, मुरार और सिरोल थाना पुलिस ने एक आयुर्वेद स्पा के नाम पर देह व्यापार कराने वाले सेंटर...

जिलाध्यक्ष की मदिरा पर चर्चा:कांग्रेस ने ग्वालियर भाजपा जिलाध्यक्ष का शराब पीते वीडियों शेयर किया

बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री उमाभारती प्रदेश में पूर्ण शराब बंदी की मुहिम छेड़े हुए हैं ,मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शराब को अच्छा...
error: Content is protected !!