Home Breaking News बिजली विभाग के जूनियर इंजीनियर (JE) को,50 हजार की रिश्वत लेते,EOW पुलिस...

बिजली विभाग के जूनियर इंजीनियर (JE) को,50 हजार की रिश्वत लेते,EOW पुलिस ने रंगे हाथों दबोचा

बता दें कि कामाख्य मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल की कुछ दिनों पहले सप्लाई लाइन केबिल जल गई। अस्पताल के कर्मचारी द्वारा सीध तार डालकर बिजली सप्लाई शुरू कर दी गई। इस संबंध में जेई अरूण सैनी द्वारा अस्पताल में बिजली चोरी किए जाने का केस बनाया। फोटो और वीडियो भी लिए थे। ये मामला खत्म करने के एवरेज में जेई द्वारा पचास हजार की रिश्वत मांगी जा रही थी। जिसमें बिजली बिल में सुधार किए जाने की बात कही थी।


भिंड/ग्वालियर/मप्र।

ग्वालियर की ईओडब्ल्यू (आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो) पुलिस ने भिंड में मप्र विघुत वितरण कंपनी के जेई अरूण सैनी को 50 हजार की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों पकड़ा है। आरोपी द्वारा निजी अस्पताल के बिल संबंधी मामले में पचास हजार की रिश्वत की मांग की जा रही थी। EOW ने जूनियर इंजीनियर अरुण सैनी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज कर विधि अनुसार कार्यवाही को अंजाम दिया।

क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार,मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के वाटर वॉक्स कार्यालय में पदस्थ जेई अरूण सैनी ने कामाख्या मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल के बिल संबंधी भुगतान को लेकर रिश्वत की मांग की जा रही थी। निजी अस्पताल प्रबंधन द्वारा अब तक एक लाख 24 हजार राशि का भुगतान किया जा चुका था। बिजली कंपनी में पदस्थ जेई सैनी ने धमकी दी थी कि अगर 50 हजार राशि को रिश्वत के तौर पर नहीं दिया गया तो अस्पताल में बिजली चोरी को दर्शाते हुए कनेक्शन बिच्छेद की कार्रवाई कर दी जाएगी। इस बात की शिकायत निजी अस्पताल के मैनेजर आशुतोष शर्मा द्वारा ईओडब्ल्यू पुलिस कार्यालय ग्वालियर में की गई थी। इसके बाद आरोपी के बातचीत की ऑडियो रिकॉर्ड कराई गई थी। इसके बाद जेई सैनी को वायदे के मुताबिक निजी अस्पताल के मैनेजर ने पचास हजार की रिश्वत दी। रिश्वत देकर जैसे ही वो दफ्तर से बाहर निकला। वैसे ही ईओडब्ल्यू पुलिस को इशारा कर दिया। ईओडब्ल्यू के अफसरों ने आरोपी जेई को पकड़ कर हाथ धुलवाएं।

ईओडब्ल्यू टीम ने रंगे हाथों पकड़ा

EOW ने जेई अरूण सैनी को 50 हजार की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों पकड़ा है।

आशुतोष शर्मा की शिकायत पर ईओडब्लू की टीम ने पहले बातचीत को रिकॉर्ड करवाया और आज मौके पर पहुंचकर बिजली विभाग ऑफिस में फरियादी आशुतोष शर्मा से पचास हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए जूनियर इंजीनियर अरुण सैनी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। जब उनके हाथ धुलवाए गए तो पचास हजार रुपये के नोटों का बंडल हाथ में लेने के चलते उनके हाथों से लाल रंग निकलने लगा। जिससे साबित हो गया कि उन्होंने ईओडब्ल्यू द्वारा दिए गए वहीं पचास हजार रुपये रिश्वत में लिए हैं।

इनका कहना

निजी अस्पताल के मैनेजर आशुतोष शर्मा द्वारा बताया गया है कि मेरे द्वारा एक लाख 24 हजार रुपए जमा कराए जा चुके थे। इसके बावजूद पचास हजार रुपए की डिमांड की जा रही थी। पैसा न देने पर चोरी का केस बनाने की बात कहते थे। बार बार फोन करके धमकी देते थे। आवेदक आशुतोष शर्मा ने शिकायत में बताया कि अरुण सैनी ने उन्हें चेतावनी दी थी कि वे उन्हें 50 हज़ार की रिश्वत के दें वर्ना वो उनके खिलाफ 2.50 (ढाई लाख रुपये) का बिजली चोरी का प्रकरण बना देंगे। शिकायत मिलते ही ग्वालियर ईओडब्ल्यू पुलिस ने आवेदक के माध्यम से रिश्वत मांगे जाने की तस्दीक की। जिसके बाद आज रंगे हाथों जेई पकड़ाया गया।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

प्रतिष्ठित “जीवाजी क्लब” में पुलिस की रेड,जुआ खेलते 11 धन्नासेठ गिरफ्तार,लाखों की नकदी बरामद

बता दें कि जीवाजी राव सिंधिया के नाम पर 100 साल से ज्यादा पुराने सबसे प्रतिष्ठित क्लब में जुए का ठिकाना चलता मिला। शहर...

मध्यप्रदेश में पुलिस निरीक्षकों के तबादले आदेश जारी,लिस्ट देखें

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में तबादलों का दौर लगातार जारी है इसी तारतम्य में पुलिस मुख्यालय ने बुधवार को इंस्पेक्टर्स के तबादले की सूची जारी की है।...

दिनदहाड़े व्यापारी से हुई 35 लाख की लूट का खुलासा,चार आरोपी गिरफ्तार

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के गृहनगर में दिनदहाड़े गल्ला कारोबारी से 35 लाख की लूट ने पुलिस को हिला दिया। लुटेरों को ढूंढने...

मध्यप्रदेश पुलिस में DSP स्तर के अधिकारियों के थोकबंद तबादले,लिस्ट देखें

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश शासन ने राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों के थोकबंद तबादले किए हैं। गृह विभाग ने एक बड़ी तबादला सूची जारी की जिसमें उप...
error: Content is protected !!