Home Breaking News लोकायुक्त ने लेखा शाखा में पदस्थ घूसखोर पंचायत सहायक विस्तार अधिकारी को,10...

लोकायुक्त ने लेखा शाखा में पदस्थ घूसखोर पंचायत सहायक विस्तार अधिकारी को,10 हज़ार की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा

बता दें कि जनपद का लेखा शाखा प्रभारी दस हजार रिश्वत की मांग कर रहा था। मामले में पीड़ित ने लोकायुक्त में शिकायत दर्ज करवा दी। शिकायत को संज्ञान में लेते हुए लोकायुक्त ने कार्रवाई कर दी। इस कार्रवाई से पूरे जनपद में हड़कंप मच गया। मामला सिवनी जनपद पंचायत का है। यहां लेखा शाखा प्रभारी वेतनवृद्धि लगाने के बदले रिश्वत मांग रहा था।


सिवनी/जबलपुर/मप्र।

मध्यप्रदेश में रिश्वतखोरी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सिवनी जिले में एक बार फिर जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने कार्रवाई की है।
जनपद पंचायत सिवनी में पदस्थ सहायक विस्तार अधिकारी पंचायत व लेखा शाखा प्रभारी गणाराम कटरे को विशेष स्थापना दल लोकायुक्त जबलपुर ने शुक्रवार को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते जनपद कार्यालय में रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। साथ ही लोकायुक्त टीम ने मामला पंजीबद्ध कर जांच शुरू कर दी है।

क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत सिवनी में पदस्थ सहायक विस्तार अधिकारी पंचायत व लेखा शाखा प्रभारी गणाराम कटरे को विशेष स्थापना दल लोकायुक्त जबलपुर ने शुक्रवार को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते जनपद कार्यालय में गिरफ्तार किया है। दल के प्रभारी स्वप्निल दास ने बताया कि, सिवनी शहर के बारापत्थर क्षेत्र निवासी प्रार्थी पंचायत सचिव राजिक अंसारी की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है। कुरई विकासखंड की ग्राम पंचायत बकोड़ी में पदस्थ पंचायत सचिव राजिक अंसारी ने 27 सितंबर को जबलपुर लोकायुक्त में दर्ज कराई गई शिकायत में बताया कि साल 2019 से 2021 तक की वेतन वृद्धि लगाई जानी थी, जो लेखा शाखा प्रभारी द्वारा नहीं लगाई गई है। वेतन वृद्धि लगाने के बदले लेखा शाखा प्रभारी गणाराम कटरे द्वारा 10 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की जा रही है।

लोकायुक्त के ट्रैप में फंसा घूसखोर अधिकारी

घूसखोर अधिकारी पर कार्रवाई करती जबलपुर लोकायुक्त पुलिस

शिकायत का परीक्षण करने के बाद 30 सितंबर को जबलपुर लोकायुक्त दल ने आरोपित सहायक विस्तार अधिकारी (पंचायत) एवं लेखा शाखा प्रभारी गणाराम कटरे को सिवनी जनपद पंचायत कार्यालय में रिश्वत के 10 हजार रुपये लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। कार्रवाई से जनपद कार्यालय में पदस्थ कर्मचारियों में हडकंप मच गया। कार्रवाई में लोकायुक्त दल के निरीक्षक स्वप्निल दास, भूपेंद्र दीवान व अन्य कर्मचारी शामिल रहे। पहले भी सिवनी जनपद पंचायत में रिश्वत लेने की खबरें मिल रहीं थी लेकिन यहां पर कोई शिकायत दर्ज नहीं करवा पा रहा था। रिश्वत लिए जाने के मामला उजागर होने के बाद जनपद में तरह-तरह की चर्चाओं का दौर शुरू हो गया।

इनका कहना

आरोपी गनाराम कटरे का कहना है कि उसने किसी प्रकार के पैसे की मांग नहीं की थी। शिकायतकर्ता सचिव जबरदस्ती उनकी टेबल में लिफाफा रखकर चला गया था और उसने कहा था सीईओ साहब को दे देना।

सीईओ का कहना

इस मामले में सीईओ अभिषेक कुमार का कहना है कि शिकायतकर्ता सचिव राजिक अंसारी आपराधिक किस्म का भ्रष्ट व्यक्ति है और उन्होंने उसे जेल पहुंचाया था। इसी के कारण उन पर आरोप लगा रहा है। वहीं लोकायुक्त टीम ने मामला पंजीबद्ध कर जांच शुरू कर दी है।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

प्रतिष्ठित “जीवाजी क्लब” में पुलिस की रेड,जुआ खेलते 11 धन्नासेठ गिरफ्तार,लाखों की नकदी बरामद

बता दें कि जीवाजी राव सिंधिया के नाम पर 100 साल से ज्यादा पुराने सबसे प्रतिष्ठित क्लब में जुए का ठिकाना चलता मिला। शहर...

मध्यप्रदेश में पुलिस निरीक्षकों के तबादले आदेश जारी,लिस्ट देखें

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में तबादलों का दौर लगातार जारी है इसी तारतम्य में पुलिस मुख्यालय ने बुधवार को इंस्पेक्टर्स के तबादले की सूची जारी की है।...

दिनदहाड़े व्यापारी से हुई 35 लाख की लूट का खुलासा,चार आरोपी गिरफ्तार

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के गृहनगर में दिनदहाड़े गल्ला कारोबारी से 35 लाख की लूट ने पुलिस को हिला दिया। लुटेरों को ढूंढने...

मध्यप्रदेश पुलिस में DSP स्तर के अधिकारियों के थोकबंद तबादले,लिस्ट देखें

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश शासन ने राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों के थोकबंद तबादले किए हैं। गृह विभाग ने एक बड़ी तबादला सूची जारी की जिसमें उप...
error: Content is protected !!