Home Breaking News लोकायुक्त ने घूसखोर पंचायत सचिव को 20 हज़ार की रिश्वत लेते रंगे...

लोकायुक्त ने घूसखोर पंचायत सचिव को 20 हज़ार की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा,40 हजार की थी डिमांड

भोपाल/मध्यप्रदेश।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में लोकायुक्त टीम ने घूसखोर पंचायत सचिव को रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ दबोचा है।
दरअसल,लोकायुक्त पुलिस भोपाल ने बोरदा ग्राम पंचायत के सचिव भगवान सिंह कीर को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंहे हाथ गिरफ्तार किया है। आरोपी ने पंचायत में दो सफाई कर्मचारियों को नौकरी पर रखने के लिए 40 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की थी। सचिव ने बुधवार को 20 हजार रुपए लेकर फरियादी को साउथ टीटी नगर इलाके में बुलाया। फरियादी ने जैसे ही 20 हजार रुपए दिए। लोकायुक्त ने सचिव को दबोच लिया। दोनों सफाई कर्मचारियों को हटाने वाले सरपंच की भूमिका की भी लोकायुक्त जांच की जा रही है।

क्या है पूरा मामला

पंचायत सचिव भगवान सिंह कीर पर कार्रवाई करती लोकायुक्त पुलिस

प्राप्त जानकारी के अनुसार,निरीक्षक रजनी तिवारी ने बताया कि कैलीखेड़ा, कालापानी कोलार रोड पर रहने वाले बृजेश थावरी वार्ड नंबर-83 नगर निगम में सफाई कर्मचारी हैं। उनके दो रिश्तेदारों को ग्राम पंचायत बोरदा के सचिव भगवान सिंह कीर ने अपनी पंचायत में सफाई कर्मचारी के रूप में नियुक्त किया। बाद में सचिव 40 हजार रिश्वत मांगने। जब बृजेश ने पैसा नहीं होने की बात कही तो सचिव ने दोनों को नौकरी से हटा दिया। इस पर बृजेश रिश्वत देने को राजी हो गए। बुधवार को सचिव ने 20 हजार रुपए लेकर टीटी नगर इलाके में बुलाया। वह पैसा लेकर पहुंचे। जैसे ही उन्होंने सचिव को पैसा दिया। उसी समय पहले से ही जाल बिछाए खड़ी लोकायुक्त की टीम ने आरोपी को दबोच लिया।

रिश्वत ना मिलने पर नौकरी से हटाया

फरियादी बृजेश ने बताया कि वो मूल रूप से मनेठी गांव, तहसील ईशागढ़, जिला गूना का रहने वाला है। यहां पर कैली खेड़ा, काला पानी, कोलार रोड पर रहकर सफाईकर्मी का काम करता है। गांव में सफाई अभियान के तहत दो सफाईकर्मियों की जरूरत थी। जिसके लिए उसने ग्राम सचिव भगवान सिंह कीर से अपने मौसी के बेटी अनिता और दामाद विजय को लगाने की बात की। इस पर ग्राम सचिव ने बृजेश से 40 हजार रिश्वत मांगते हुए 1 सितंबर को काम पर लगा दिया और 14 सितंबर को रिश्वत देने की बात की। जब 14 सितंबर को रिश्वत नहीं मिली तो 18 सितंबर को काम से निकाल दिया। इसके बाद किसी परिचित ने एंटी करप्शन की जानकारी दी तो भगवान सिंह से बात करके बृजेश रिश्वत देने को तैयार हो गया और 26 तारीख को पुलिस अधीक्षक से शिकायत कर दी।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

प्रतिष्ठित “जीवाजी क्लब” में पुलिस की रेड,जुआ खेलते 11 धन्नासेठ गिरफ्तार,लाखों की नकदी बरामद

बता दें कि जीवाजी राव सिंधिया के नाम पर 100 साल से ज्यादा पुराने सबसे प्रतिष्ठित क्लब में जुए का ठिकाना चलता मिला। शहर...

मध्यप्रदेश में पुलिस निरीक्षकों के तबादले आदेश जारी,लिस्ट देखें

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में तबादलों का दौर लगातार जारी है इसी तारतम्य में पुलिस मुख्यालय ने बुधवार को इंस्पेक्टर्स के तबादले की सूची जारी की है।...

दिनदहाड़े व्यापारी से हुई 35 लाख की लूट का खुलासा,चार आरोपी गिरफ्तार

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के गृहनगर में दिनदहाड़े गल्ला कारोबारी से 35 लाख की लूट ने पुलिस को हिला दिया। लुटेरों को ढूंढने...

मध्यप्रदेश पुलिस में DSP स्तर के अधिकारियों के थोकबंद तबादले,लिस्ट देखें

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश शासन ने राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों के थोकबंद तबादले किए हैं। गृह विभाग ने एक बड़ी तबादला सूची जारी की जिसमें उप...
error: Content is protected !!