Home Breaking News कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया का एक और वीडियो वायरल,बोले- रानी लक्ष्मीबाई...

कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया का एक और वीडियो वायरल,बोले- रानी लक्ष्मीबाई कोई वीरांगना नहीं थी

ग्वालियर/मध्यप्रदेश।

भांडेर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी फूलसिंह बरैया के एक के बाद एक विवादित वीडियो सामने आ रहे हैं, जो फेसबुक, ट्वीटर आदि सोशल मीडिया मंचों पर खासा वायरल हो रहे हैं। बरैया का एक और विवादित वीडियो सामने आया है, जिसमें वे झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का उपहास उड़ा रहे हैं और खासा विवादित टिप्पणी कर रहे हैं। दरअसल,मध्यप्रदेश में सियासी माहौल पल-पल बदलता नजर आ रहा है। वहीं लोग प्रत्याशियों के पुराने वीडियो शेयर कर उन पर निशाना साध रहे हैं। इस बीच फूल सिंह बरैया का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है।
वीडियो में जिस मंच से बरैया संबोधन कर रहे हैं, उसमें लगे होर्डिंग में यह साफ उल्लेख है कि 9 अक्टूबर 2015 में ग्वालियर मेला ग्राउंड में आरक्षण समर्थक महारैली कार्यक्रम का आयोजन हो रहा है। जहां हजरों लोगों को संबोधित करते हुए कह रहे हैं कि…रानी लक्ष्मी बाई कोई वीरांगना नहीं थी। वो तो अपने बच्चे को लेकर झांसी से भागी थी। ग्वालियर में आकर उन्होंने आत्महत्या की थी। ऐसे में लक्ष्मीबाई को वीरांगना नहीं कहा जाना चाहिए।

क्या बोला बरैया ने वीडियो में,उन्हीं की जुबानी

खूब लड़ी मर्दनी वो तो झांसी वाली रानी है…बुंदेले हरबोलो के मुंह हमने सुनी कहानी हैं। सुनी ही है, यह तो लिखी भी नहीं, क्यों सुनते हो तुम..?युद्ध का मैदान कहां था…झांसी। और मरी आत्महत्या करके (रानी लक्ष्मीबाई) ग्वालियर में। वीरांगना उसी को कहते हैं जो युद्ध के मैदान में मरे। युद्ध का मैदान झांसी में था, मरी थी लक्ष्मीबाई ग्वालियर में ‘आत्महत्या करके”। आत्महत्या करने वाले को अगर वीरांगना कहा, तो रोज 10 लड़कियां आत्महत्या कर रही हैं, उन्हें भी लिखो कि वीरांगना हैं ये…दिमाग से सोचिए आप..लिखी हुई और सुनी हुई बातें मत करिए। कौन लड़ा था मालुम है? इसके बारे में पढ़ियो। झलकारी बाई कोरिन हमारी बहन लड़ी थी झांसी में…ये तो बच्चे को ले करके भाग रही थीं, ये लड़ी नहीं हैं, एक मिनट नहीं लड़ीं। और लिख दिया खूब लड़ी मर्दानी…
ओहहह..हो…हो…

सवर्ण व महिलाओं पर अमर्यादित बयान भी हुआ था वायरल

हालांकि फूल सिंह बरैया और विवादित टिप्पणी का इतिहास नया नहीं है। अभी हाल ही में उन्होंने दलित और मुसलमानों के डीएनए को लेकर एक विवादित टिप्पणी दे दी थी। जिससे मुस्लिम समुदाय ने उनके प्रति कड़ा रोष व्यक्त किया था। बरैया ने कहा था कि दलित और मुसलमान का डीएनए (DNA) समान है। वह दोनों एक ही पिता की औलाद है।
वही सवर्ण महिलाओं पर भी फूल सिंह बरैया ने आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। जिसके बाद चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस जारी किया था। अब ऐसे में 5 साल बाद फिर से उपचुनाव में महारानी लक्ष्मी बाई पर किए उनके इस विवादित बयान का उनके मतदान पर कितना असर पड़ता है। यह तो वक्त ही बताएगा।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बड़ी सफलता:सनसनीखेज 18 लाख की लूट का खुलासा,तीन आरोपी गिरफ्तार

बता दें कि कोलारस में दाल व्यापारी से 18 लाख रुपए की लूट करने वाले तीन बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े...

एंटी माफिया मुहिम की आड़ में रिश्वतखोरी:नगर निगम अधिकारी प्रदीप वर्मा 5 लाख की रिश्वत के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार

बता दें कि थाटीपुर पानी की टंकी के पास रहने वाले एक बिल्डर धर्मेंद्र भारद्वाज की इमारत पर दाे माह पहले सिटी प्लानर ने...

विनम्र श्रद्धांजलि:गश्त कर रहे पुलिसकर्मी को ट्रक ने जोरदार टक्कर मारी,मौत

बता दें कि पुलिस ने उनके परिजनों को घटना की जानकारी दी। इंस्पेक्टर काकोरी ने बताया कि घटनास्थल और मार्ग पर लगे सीसीटीवी कैमरे...

अब गुंडे-बदमाशों का जुलूस नहीं निकाल पाएगी पुलिस,PHQ ने आदेश जारी किए

बता दें कि लोगों के मन से बदमाशों का खौफ दूर करने पुलिस ने ये परंपरा शुरू की थी। पुलिस का मानना था कि...
error: Content is protected !!