Home Breaking News विधायक की बिगड़े बोल:कलेक्टर से कहा! ढोर हो क्या, आंखें फूटी हैं...

विधायक की बिगड़े बोल:कलेक्टर से कहा! ढोर हो क्या, आंखें फूटी हैं क्या ? बदतमीज और बेवकूफ आदमी

बता दें कि दमोह कलेक्टर एस कृष्ण चेतन्य 2013 बैच के आईएएस ऑफिसर है। उनकी ट्रेनिंग छिंदवाड़ा में हुई। पहली पोस्टिंग रीवा के मऊगंज में SDM के बतौर हुई, जहां 17 महीने का कार्यकाल रहा। इसके बाद शहडोल जिला पंचायत में सीईओ के तौर पर 2017 से 2019 तक का कार्यकाल रहा। 2019 से इंदौर नगर निगम में एडीशनल कमिश्नर के पद पर कार्य किया। यहां करीब 2 साल बिताए। इसके बाद 17 महीने से दमोह कलेक्टर के रूप में सेवाएं दे रहे हैं।


दमोह/मध्यप्रदेश।

मध्यप्रदेश के दमोह जिले के पथरिया विधानसभा से विधायक रामबाई सिंह परिहार एक बार फिर अपने विवादित बयान के चलते चर्चा में हैं। उन्होंने दमोह कलेक्टर को सबके सामने कहा-आंखें फूट गई क्या? कलेक्टर हो कि ढोर। उन्होंने कलेक्टर के लिए बेवकूफ और बदतमीज जैसे शब्दों का प्रयोग भी किया। कलेक्टर ने कहा कि विधायक ने ये सब प्लानिंग के तहत किया है। उनके खिलाफ मैं FIR कराऊंगा। विधायक रामबाई शुक्रवार को महिलाओं के साथ कलेक्ट्रेट पहुंची थी।

क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार,पथरिया विधानसभा के नरसिंहगढ़ में शुक्रवार को जन समस्या निवारण शिविर का आयोजन किया गया था। इसमें प्रमुख अधिकारी नहीं पहुंचे। यहां पर बहुत सारी महिलाएं अपनी समस्याएं लेकर पहुंची थीं। विधायक रामबाई को इस बात पर गुस्सा आया, तो वह उन महिलाओं को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंच गई। इसके बाद कलेक्टर को चैंबर से बाहर बुलाया और फिर उनका गुस्सा फूट पड़ा। विधायक ने महिलाओं की समस्याएं बताई, तो कलेक्टर ने नियमों का हवाला देकर कार्रवाई करने की बात कही। कलेक्टर ने बार-बार चेक करा लेंगे जैसे शब्दों का उपयोग किया, तो विधायक भड़क गई और उन्होंने अपना आपा खोते हुए कलेक्टर के लिए ढोर, बेवकूफ और बदतमीज जैसे शब्द उपयोग किए।

कलेक्टर पर विधायक का गुस्सा फूटा

विधायक रामबाई

विधायक रामबाई ने गुस्से में कहा कि क्या आपकी आंखें फूट गई है, या फिर आप ढोर हो? उन्होंने कलेक्टर से कहा कि तुझे 2 रुपए की अक्ल नहीं है। इस दौरान कलेक्टर विधायक की बात को अनसुना करते रहे और मौजूद महिलाओं से समस्या के समाधान का आश्वासन देते रहे।

इनका कहना

मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक ने बताया कि कलेक्टर एसी चैंबर में बैठे रहते हैं। जनता परेशान है और 15 साल से लोगों की समस्याओं का समाधान नहीं हो रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री देश के प्रधानमंत्री के जन्मदिन के मौके पर लोगों की समस्याओं का समाधान करने के लिए शिविर आयोजित कर रहे हैं, लेकिन वह केवल औपचारिकता निभा रहे हैं। कोई जवाबदार अधिकारी मौके पर नहीं पहुंच रहा है, इसलिए लोगों को लेकर कलेक्ट्रेट आई थी। कलेक्टर को समस्या बताई तो वह बार-बार कह रहे हैं, जांच करा लेंगे, चेक करा लेंगे। इसलिए उन्हें गुस्सा आ गया

कलेक्टर एस कृष्ण चेतन्य का कहना

कलेक्टर

इस मामले में कलेक्टर एस कृष्ण चेतन्य का कहना है कि विधायक ने पूरे प्लानिंग के साथ यह हरकत की है। इसलिए वह उनके खिलाफ एफआईआर करा रहे हैं। उन्होंने एसपी को इस मामले की जानकारी दे दी है।

वीडियो देखें

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

प्रतिष्ठित “जीवाजी क्लब” में पुलिस की रेड,जुआ खेलते 11 धन्नासेठ गिरफ्तार,लाखों की नकदी बरामद

बता दें कि जीवाजी राव सिंधिया के नाम पर 100 साल से ज्यादा पुराने सबसे प्रतिष्ठित क्लब में जुए का ठिकाना चलता मिला। शहर...

मध्यप्रदेश में पुलिस निरीक्षकों के तबादले आदेश जारी,लिस्ट देखें

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में तबादलों का दौर लगातार जारी है इसी तारतम्य में पुलिस मुख्यालय ने बुधवार को इंस्पेक्टर्स के तबादले की सूची जारी की है।...

दिनदहाड़े व्यापारी से हुई 35 लाख की लूट का खुलासा,चार आरोपी गिरफ्तार

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के गृहनगर में दिनदहाड़े गल्ला कारोबारी से 35 लाख की लूट ने पुलिस को हिला दिया। लुटेरों को ढूंढने...

मध्यप्रदेश पुलिस में DSP स्तर के अधिकारियों के थोकबंद तबादले,लिस्ट देखें

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश शासन ने राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों के थोकबंद तबादले किए हैं। गृह विभाग ने एक बड़ी तबादला सूची जारी की जिसमें उप...
error: Content is protected !!