Home Breaking News एंटी माफिया मुहिम की आड़ में रिश्वतखोरी:नगर निगम अधिकारी प्रदीप वर्मा 5...

एंटी माफिया मुहिम की आड़ में रिश्वतखोरी:नगर निगम अधिकारी प्रदीप वर्मा 5 लाख की रिश्वत के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार

बता दें कि थाटीपुर पानी की टंकी के पास रहने वाले एक बिल्डर धर्मेंद्र भारद्वाज की इमारत पर दाे माह पहले सिटी प्लानर ने बुलडाेजर लगा दिया था। तुड़ाई के डर से सहमें बिल्डर ने सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा से बात की ताे तुड़ाई रूकवाने के लिए पचास लाख रुपये की मांग की गई। बिल्डर ने काेराेना के कारण आर्थिक संकट बताया ताे दाेनाें पक्षाें में बातचीत के बाद साैदा 25 लाख में तय हाे गया। और तय हुआ कि दस लाख रुपये अभी देना हाेंगे और बाकी रकम बाद में दे दी जाएगी। बिल्डर के मुताबिक उसने सिटी प्लानर काे दस लाख रुपये तत्काल दे दिए थे। इसके बाद अब फिर से सिटी प्लानर बाकी रकम के लिए उस पर दबाव बना रहा था।


ग्वालियर/मध्यप्रदेश।

मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर में आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो यानी ईओडब्ल्यू ने नगर निगम के सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा को 5 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। सिटी प्लानर से विश्वविद्यालय थाने में पूछताछ की जा रही है। यह पहला मौका है जब अमूमन लोकायुक्त द्वारा की जाने वाली रिश्वत लेने की कार्रवाई को ईओडब्ल्यू ने अंजाम दिया है। पता चला है कि फरियादी धर्मेंद्र भारद्वाज ने ही ईओडब्ल्यू से कार्रवाई करने की गुहार लगाई थी। उसने डेढ़ महीने से अपने और अधिकारी के बीच चल रही बातचीत ऑडियो क्लिप भी उपलब्ध कराई थी उसी आधार पर यह कार्रवाई की गई है।

क्या है पूरा मामला

EOW की गिरफ्त में प्रदीप वर्मा

प्राप्त जानकारी के अनुसार,बिल्डर धर्मेंद्र भारद्वाज ने करीब डेढ़ महीने पहले ईओडब्ल्यू में शिकायती आवेदन दिया था जिसमें बताया गया था कि सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा उनसे सुरेश नगर स्थित उनके डुप्लेक्स की परमिशन और सामने पड़ी सरकारी जमीन जिसका क्षेत्रफल लगभग 19 हज़ार स्क्वायर फीट है उस पर भवन निर्माण की अनुमति देने की एवज में 50 लाख रुपए की रिश्वत मांग रहे हैं। इसके बाद में सौदा 25 लाख में तय हुआ फरियादी का यह भी कहना है कि दस लाख रुपए की रकम वह पहले ही सिटी प्लानर वर्मा को दे चुका है। शनिवार को बाल भवन के पास एसपी ऑफिस बालाजी गार्डन के पास सिटी प्लानर ने धर्मेंद्र भारद्वाज को रिश्वत देने के लिए बुलाया था। सादा कपड़ों में ईओडब्ल्यू की टीम खड़ी हुई थी जिसने रिश्वत लेते हुए प्रदीप वर्मा को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार करने के बाद वर्मा से विश्वविद्यालय थाने में पूछताछ की जा रही है।

घर पर भी कार्यवाही जारी

प्रदीप वर्मा के निवास पर कार्यवाही करती EOW

पांच लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तार हुए सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा के विनय नगर स्थित निवास पर भी EOW की टीम कार्रवाई करने पहुंच गई है। वहां पर दस्तावेजाें के साथ यह भी देखा जा रहा है कि आय से अधिक संपत्ति ताे अधिकारी ने अर्जित ताे नहीं की है। समाचार लिखे जाने तक कार्रवाई जारी थी।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कांस्टेबल से लेकर एसआई की पदस्थापना के संबंध में,पुलिस मुख्यालय ने आदेश जारी किए

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में पुलिस मुख्यालय (PHQ) द्वारा थानों में कर्मचारियों की पदस्थापना के संबंध में आदेश जारी किए गए हैं। जिसके मुताबिक पुलिस थाने में...

खबर का असर,मुरैना शराबकांड:सीएम ने कलेक्टर और एसपी को हटाया,अब तक 20 की मौत

बता दे कि मंगलवार को नंबर वन पुलिस डॉटकॉम (No1Police.com) ने जहरीली शराब मामला ! ""एसपी पर गिर सकती है गाज"" इस खबर को...

मुरैना जहरीली शराबकांड:मृतकों के परिजनों का हंगामा,कमलनाथ का वार,SP पर गिर सकती है गाज

भोपाल/मुरैना/मध्यप्रदेश। रतलाम और उज्जैन के बाद मुरैना में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत के बाद हड़कंप मच गया है। मुरैना जिले में जहरीली...

फरार शराब तस्कर के प्रति आरक्षक की वफादारी,पकड़ने गयी अपनी पुलिस टीम पर हमला बोला

बता दें शराब माफिया जीतू चौहान शहर के पांच थानों हजीरा, बहोड़ापुर, पुरानी छावनी, महाराजपुरा और गोला का मंदिर में विभिन्न 9 आबकारी एक्ट...
error: Content is protected !!