Home News Headlines छुट्टी न मिलने से महिला सिपाही की मौत,पुलिसकर्मियों ने SP DSP को...

छुट्टी न मिलने से महिला सिपाही की मौत,पुलिसकर्मियों ने SP DSP को दौड़ा दौड़ा कर पीटा

बता दें कि पटना पुलिस लाइन में शुक्रवार को जमकर हंगामा हुआ है। दरअसल पुलिस लाइन में तैनात एक महिला सिपाही काफी दिनों से बीमार थी। वह काफी समय से छुट्टी मांग रही थी लेकिन उसे छुट्टी नहीं मिल रही थी जब उसका स्वास्थ्य अधिक खराब हो गया तो उसे पटना के एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया।



पटना/बिहार…………..


बिहार की राजधानी पटना में शुक्रवार को एक महिला पुलिसकर्मी की बीमारी से मौत के बाद पुलिसकर्मियों ने अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए पुलिस लाइन में जमकर हंगामा मचाया। इस दौरान आक्रोशित पुलिसकर्मी कानून को हाथ में लेकर सड़कों पर उतर गए और आसपास की दुकानों को जबरदस्ती बंद करवाया और आम लोगों की भी पिटाई की। पुलिस के अनुसार, पटना पुलिस लाइन में एक महिला पुलिसकर्मी की बीमारी के बाद मौत हो गई। इस पर पुलिस लाइन के सभी पुलिसकर्मी आक्रोशित हो गए। उन्होंने उच्च पदाधिकारियों पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए पुलिस लाइन में जमकर हंगामा किया वहां खड़े सभी वाहनों में तोड़फोड़ की हंगामा करने में कई महिला पुलिसकर्मी भी शामिल थीं। सिपाहियों ने डीएसपी मसलाउद्दीन, एसपी सिटी डी अमर केस और एसपी ग्रामीण आनंद कुमार को डंडों से पीटा। हालात संभालने के लिए कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और फायरिंग की। डेंगू से पीड़ित एक नवनियुक्त सिपाही सविता पाठक को छुट्टी नहीं दी थी। जिससे उसकी मौत हो गई। इसके बाद महिला एवं पुरुष सिपाही भड़क गए।



क्या है मामला………….


हंगामे के दौरान ट्रेनी पुलिसवालों ने एसपी सिटी, सार्जेंट और डीएसपी की पिटाई की तो पुलिस लाइन पहुंचे एससपी को देखते ही पथराव किया। पुलिसवालों के हमले के दौरान सार्जेंट मेजर सह डीएसपी मसलाउद्दीन, एसपी सिटी और एसपी ग्रामीण को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा।

शुक्रवार को इलाज के दौरान महिला सिपाही की मौत हो गई। इस बात से नाराज पुलिस कांस्‍टेबलों ने हंगामा कर दिया। कांस्‍टेबलों ने पुलिस लाइन में खड़ी दर्जनों गाड़ियों में तोड़फोड़ कर दी और कई राउंड गोलियां चलाईं हंगामे के दौरान सार्जेंट मेजर सह डीएसपी मसलाउद्दीन, एसपी सिटी और एसपी ग्रामीण को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया है। लगभग तीन घंटे तक पटना पुलिस के रंगरूट पुलिस लाइन और आसपास के इलाके में उपद्रव बनाते रहे स्थानीय लोगों के मुताबिक पुलिस लाइन के पास स्थित मंदिर का सीसीटीवी फोड़े जाने के बाद उनकी पुलिसवालों से झड़प हुई जिसके बाद मुहल्ले के लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया। घटना के दो-तीन घंटे बाद फिलहाल वहां की स्थिति नियंत्रण में है और पुलिस लाइन में बीएमपी के जवानों को बुलाया गया है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रदेश के डीजीपी से इस मामले की रिपोर्ट तलब की है।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोकायुक्त ने 4 रिश्वतखोरों को धर दबोचा:महिला एवं बाल विकास की 2 महिला अधिकारी,फिर गृह निर्माण समिति के प्रबंधक और डायरेक्टर हत्थे चढ़े

बता दें कि मध्याह्न भोजन का बिल पास करने के नाम पर महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज की परियोजना अधिकारी माया सोनी और...

रिश्वतखोरों पर लोकायुक्त का शिकंजा:भोपाल में चौकी प्रभारी,सिंगरौली में प्रधान आरक्षक हत्थे चढ़ा

भोपाल/सिंगरौली/मप्र। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के बैरसिया थाना के ललरिया चौकी प्रभारी को लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी चौकी...

लोकायुक्त के जाल में फंसा प्रधान आरक्षक,20 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

बता दें कि पुलिस जवान शिक्षा विभाग में पदस्थ बाबू (क्लर्क) जौरा, मुरैना में पदस्थ विकास जाटव निवासी मालनपुर को फर्जी केस में फंसाने...

लोकायुक्त ने राजस्‍व निरीक्षक (RI) को 25 हजार रुपये की रिश्वत लेते सहयोगी के साथ रंगे हाथों दबोचा

बता दें कि RI ने रिश्वत लेने के लिए हुकुम सिंह नाम का एक आदमी को नियुक्त कर रखा था। वे आरआई के लिए...
error: Content is protected !!