Home News Headlines कुछ “पुलिस वाले अच्छे होते है”,पुलिस के गुडवर्क को जनता तक पहुँचा...

कुछ “पुलिस वाले अच्छे होते है”,पुलिस के गुडवर्क को जनता तक पहुँचा रहें हैं कांस्टेबल सुमित कुमार

“बता दें कि अभी जल्द ही कांस्टेबल सुमित कुमार को आईजी रेंज प्रयागराज कवींद्र प्रताप सिंह द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया है”



प्रयागराज/उत्तरप्रदेश……………


कहतें हैं कि महासागर की अगर एक बूंद मैली हैं तो इसका मतलब ये नही की सम्पूर्ण महासागर ही मैला हो क्योंकि पुलिस अब बदल रही हैं अब जरूरत है कि समाज भी अपनी सोच को बदलें

क्योंकि…?????

कुछ समय पहले पुलिस के प्रति जनता की एक ऐसी सोच थी जो नकारात्मक और डरावनी थी,जनता के मन मे डर रहता था,पुलिस का नाम आते ही लोगों के मन मे सिहरन पैदा हो जाती थी,जैसे यमराज का नाम ले लिया हो,जुबान पर कठोर शब्द और हाथों मे डंडा मानो ऐसा कि पुलिस समाज को परेशान करने के लिए ही बनाई गई है।

लेकिन समय मे बदलाव आता है और बदलाव हुआ भी ये बदलाव लाने वाले और जनता के दिल से डर खत्म करने वाले कोई और नही बल्कि इसी यूपी पुलिस के सुपर हीरो या यू कहे कोहिनूर हीरा है जिन्होंने सोशल मीडिया को चुना और सोशल मीडिया को प्लेटफार्म बनाकर अपनी कलम की धार से पुलिस विभाग को एक नई अच्छी छवि की पहचान दिलाने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने में लगे है।


कुछ “पुलिस वाले अच्छे होते है”……………


आइये आज हम बताते है ऐसे पुलिसकर्मी के बारे में जो जिसनें पुलिस के प्रति लोगों की सोच को ही बदल डाला हम बात कर रहें हैं प्रयागराज पुलिस के कांस्टेबल सुमित कुमार की इनकी पहली पोस्टिंग प्रयागराज के शंकरगढ़ थाने में हुई जहां पर सुमित ने कई गरीबों और असहायों की मदद भी की और अधिकारियों से प्रोत्साहन मिलने पर सुमित ने फेसबुक पर एक पेज बनाया "पुलिस वाले अच्छे होते है"

सुमित ने पेज पर पुलिस के अच्छे कार्यो और बेहतरीन गुडवर्क को लोगो के बीच पहुंचाने का बीड़ा उठा लिया,और आज सुमित फेसबुक व ट्विटर के जरिए लोगों तक पुलिस की बात पहुंचाने मे लगे है। सुमित के इस कार्य से लोगों का पुलिस के प्रति नजरिया बदल रहा है। इसका साफ प्रभाव देखने को भी मिल रहा है। पुलिस पर कही फूलों की वर्षा की जा रही है,तो कही ड्यूटी पर तैनात चाय नास्ता, तो कही लोग ताली बजाकर तो कही फूलों की माला पहनाकर पुलिस का स्वागत किया जा रहा है।


कौन है सुमित कुमार…………….??????



2018 से इस मुहिम की शुरुआत करने वाले कांस्टेबल सुमित कुमार बांदा जिले के सदर तहसील के एक छोटे से गांव सोहाना के मध्यम परिवार से रहने वाले हैं।समय-समय पर गरीबों और असहायों की मदद करना हो या जरूरतमंदो की सेवा करना हो या कोरोना आपदा के समय अपना एक दिन का वेतन दान करना हो सुमित कभी पीछे नही हटते है। सामाजिक कार्यो के लिए कई बार सुमित को सम्मानित भी किया जा चुका है। अभी जल्द ही कांस्टेबल सुमित कुमार को आईजी रेंज प्रयागराज कवींद्र प्रताप सिंह द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया है।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोगों की सेवा करतें हुए कोरोना से शहीद हुए युवा डॉ शुभम उपाध्याय,इलाज के दौरान दम तोड़ा

बता दें कि भोपाल में उनका स्वास्थ्य लगातार बिगड़ता चला गया। परिजन आर्थिक रूप से भी परेशान हो गए। ऐसे में सागर के लोगों...

BIG SALUTE:आरक्षक ने एक साल का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में दान किया

जांजगीर-चंपा/छत्तीसगढ़। खाकी के आपने कई रंग देखे होंगें पर कुछ अच्छे और कुछ बुरे पर खाकी का ये रंग अनोखा है। लोग इसकी भूरी-भूरी प्रशंसा...

प्यार में धोखा खाए आशिक ने महिला आरक्षक को गोली मारी,फिर खुद के सीने पर फायर ठोका

बता दें कि घटना की सूचना पर इंदौर आईजी योगेश देशमुख भी जिला अस्पताल पंहुचे जहां घायल पल्लवी के स्वास्थ की जानकारी ली साथ...

युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष के ड्राइवर ने खुद को गोली मारी,हालत गम्भीर

बता दें कि शुरुआती जांच में पता चला कि कृष्णकांत का सुबह घर में ही विवाद हुआ था। इसी कारण उसने आत्महत्या करने का...
error: Content is protected !!