Home Breaking News ग्वालियर पुलिस के राज में! खुद की ही महिला पुलिसकर्मी सुरक्षित नहीं:VIP...

ग्वालियर पुलिस के राज में! खुद की ही महिला पुलिसकर्मी सुरक्षित नहीं:VIP ड्यूटी में तैनात महिला ASI के साथ हवलदार ने की छेड़छाड़

बता दें कि इस मामले ने ग्वालियर पुलिस की महिलाओं को सुरक्षा के दावे की पोल खोल दी है। छेड़खानी का मामला दर्ज करने के बाद पुलिस की जमकर किरकिरी हो रही है, क्योंकि चर्चा होने लगी है कि महिला सुरक्षा का दावा करने वाले पुलिस महकमे में ही जब महिला पुलिसकर्मी खुद ही सुरक्षित नहीं है तो शहर की महिलाओं की सुरक्षा का दावा पुलिस किस मुंह से करेगी


ग्वालियर/मध्यप्रदेश।

मध्यप्रदेश के ग्वालियर से एक ऐसा मामला सामने आया है जो पुलिस विभाग की किरकिरी कराने वाला है।
महिलाओं की सुरक्षा का दमखम भरने वाली ग्वालियर पुलिस के राज में खुद की ही महिला पुलिसकर्मी सुरक्षित नहीं हैं। दरअसल,महिला पुलिस के खुद सुरक्षित न होने का मामला सामने आया है। घटना ग्वालियर की है जहां एक महिला ASI के साथ हवलदार (प्रधान आरक्षक) ने ऐसी हरकत कर दी कि विभाग में हड़कंप मच गया। जिसके बाद बहोड़ापुर थाना पुलिस को अपने ही थाने में पदस्थ एक हवलदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करना पड़ा है। मामला छेड़छाड़ से जुड़ा है। बड़ी बात ये है कि छेड़छाड़ की शिकायत भी बहोड़ापुर थाने में पदस्थ एक एएसआई ने की है। पुलिस ने जाँच के बाद करीब 12 दिन बाद आरोपी हेड कॉन्स्टेबल के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है।
हवलदार महिला एएसआई को सुनसान जगह पर ले गया और उनके साथ छेड़छाड़ की। जब महिला एएसआई ने विरोध किया तो बदनाम करने की धमकी दी। महिला एएसआई ने हवलदार की हरकत के बारे में उच्च अधिकारियों को बताया जिसके बाद मामले की जांच की जा रही थी। घटना 12 दिन पहले केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के रोड शो के दौरान वीआईपी ड्यूटी में तैनान महिला एएसआई के साथ घटी।

क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार,ग्वालियर शहर के एक थाने में पदस्थ 57 वर्षीय महिला ASI ने अपने ही साथ थाने पर पदस्थ हवलदार (प्रधान आरक्षक) पर एक जगह ले जाकर छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है। घटना इस तरह है कि 22 अगस्त को केन्द्रीय नागरिक उड्‌डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का मोदी मंत्रिमंडल में विभाग मिलने के बाद पहला नगर आगमन था इसलिए रोड शो निकाला गया था। इस दौरान महिला ASI की ड्यूटी बहोड़ापुर में लगाई गई थी। पर इस दौरान हवलदार आया और महिला ASI को उसके VIP ड्यूटी पॉइंट से हटाकर मोतीझील अपने पॉइंट पर ले गया। यहां से सिंधिया का काफिला निकलने के बाद वह महिला ASI को लेकर टीपी नगर पहुंचा और यहां किसी जगह पर ले जाकर उसने महिला के साथ गंभीर रूप से छेड़छाड़ की है। एएसआई ने विरोध किया तो बदनाम करने की धमकी दी। बाद में महिला एसआई ने मामले की जानकारी अपने अधिकारियों को दी। महिला एसआई के शिकायत करने पर विभागीय जांच की गई जिसके बाद अब हवलदार के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया गया है। इस मामले पर पुलिस के आला अधिकारी कुछ भी कहने से बचते नजर आ रहे हैं।

पुलिस अफसरों ने महिला को मनाने का प्रयास किया

ऐसा भी पता लगा है कि पुलिस अफसर महिला ASI को मनाने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस अफसरों को भी पता था कि यह मामला जब सभी के सामने आएगा तो विभाग की काफी बदनामी होगी। इसलिए काफी प्रयास किया, लेकिन महिला ASI नहीं मानी और मामला दर्ज कराने पर अड़ी रही। जिसके बाद इस मामले में ASP शहर मध्य हितिका वासल ने मामले की जांच की और जांच के बाद घटना के 12 दिन बाद शहर के बहोड़ापुर थाना में आरोपी हवलदार के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज कर लिया गया है।

इनका कहना

एडिशनल एसपी हितिका वासल के मुताबिक बहोड़ापुर थाने में पदस्थ एक महिला एएसआई ने शिकायत की थी कि जब वो पिछले दिनों वीआईपी ड्यूटी में थी तब हवलदार ने उसके साथ छेड़खानी की। शिकायत की जाँच करने के बाद हेड कॉन्स्टेबल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

वीडियो देखें

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोकायुक्त ने 4 रिश्वतखोरों को धर दबोचा:महिला एवं बाल विकास की 2 महिला अधिकारी,फिर गृह निर्माण समिति के प्रबंधक और डायरेक्टर हत्थे चढ़े

बता दें कि मध्याह्न भोजन का बिल पास करने के नाम पर महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज की परियोजना अधिकारी माया सोनी और...

रिश्वतखोरों पर लोकायुक्त का शिकंजा:भोपाल में चौकी प्रभारी,सिंगरौली में प्रधान आरक्षक हत्थे चढ़ा

भोपाल/सिंगरौली/मप्र। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के बैरसिया थाना के ललरिया चौकी प्रभारी को लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी चौकी...

लोकायुक्त के जाल में फंसा प्रधान आरक्षक,20 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

बता दें कि पुलिस जवान शिक्षा विभाग में पदस्थ बाबू (क्लर्क) जौरा, मुरैना में पदस्थ विकास जाटव निवासी मालनपुर को फर्जी केस में फंसाने...

लोकायुक्त ने राजस्‍व निरीक्षक (RI) को 25 हजार रुपये की रिश्वत लेते सहयोगी के साथ रंगे हाथों दबोचा

बता दें कि RI ने रिश्वत लेने के लिए हुकुम सिंह नाम का एक आदमी को नियुक्त कर रखा था। वे आरआई के लिए...
error: Content is protected !!