Home Breaking News लोकायुक्त ने रिश्वतखोर पटवारी को 5 हज़ार रुपए लेते रंगे हाथों दबोचा

लोकायुक्त ने रिश्वतखोर पटवारी को 5 हज़ार रुपए लेते रंगे हाथों दबोचा

बता दें कि लोकायुक्त ने आरोपी पटवारी केशव प्रसाद ठाकुर के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम का प्रकरण दर्ज कर अपनी कार्रवाई पूरी की। इसके बाद आरोपी को मौके पर जमानत दे दी। टीम ने रिश्वत की रकम, रंगीन कलर और कपड़े जब्त किए हैं। पीड़ित चंद्रशेखर के मुताबिक पिछले 6 महीने से वह ऋण पुस्तिका बनवाने के लिए भटका रहा था।


मंडला/मध्यप्रदेश।

मध्यप्रदेश के मंडला जिले के नैनपुर तहसील में नमातंरण और ऋण पुस्तिका के लिए रिश्वत मांगना एक पटवारी को महंगा पड़ गया। लोकायुक्त टीम ने छापा मार कार्रवाई करते हुए आरोपी पटवारी को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है। ऋण पुस्तिका बनाने के बदले पांच हजार रुपये रिश्वत लेने वाले पटवारी केशव प्रसाद ठाकुर को जबलपुर लोकायुक्त पुलिस टीम ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है। जबलपुर से मंडला पहुंची लोकायुक्त टीम ने उक्त कार्रवाई गुरुवार सुबह करीब 11 बजे महाराजपुर में की। रिश्वतखोरी में पटवारी के पकड़े जाने के बाद मंडला जिले में राजस्व विभाग में हड़कंप मच गया। पटवारी को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ने के लिए निरीक्षक कमल सिंह, रंजीत सिंह, आरक्षक अतुल श्रीवास्तव, जुबेद खान, विजय सिंह विष्ट, जीत सिंह की ट्रैप टीम बनाई गई।

क्या है पूरा मामला

रिश्वतखोर पटवारी पर कार्रवाई करती जबलपुर लोकायुक्त पुलिस

प्राप्त जानकारी के अनुसार,महाराजपुर मंडला निवासी चंद्रशेखर तिवारी ने कृषि भूमि की ऋण पुस्तिका बनाने के लिए राजस्व विभाग में आवेदन किया था। आवेदन का निपटारा हल्का नंबर नौ के पटवारी केशव प्रसाद ठाकुर को करना था। आवेदन करने के कुछ दिन बाद पटवारी केशव ने एक एकड़ से ज्यादा कृषि भूमि की ऋण पुस्तिका बनाने के लिए रिश्तव में पांच हजार रुपये की मांग की। उक्त रकम न मिलने पर उसने ऋण पुस्तिका बनाने से साफ इनकार कर दिया। चंद्रशेखर ने कहा कि उसके पास पैसे नहीं है, कुछ समय बाद इंतजाम कर वह दे देगा। जिसके बाद पटवारी ने कहा कि ऋण पुस्तिका भी बाद में मिलेगी। पटवारी केशव प्रसाद के इस रवैये से आहत चंद्रशेखर तिवारी ने जबलपुर पहुंचकर लोकायुक्त एसपी अनिल विश्वकर्मा से पटवारी की शिकायत की थी। शिकायत के आधार पर पटवारी को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई गई। इस बीच पटवारी ने आवेदक चंद्रशेखर से रिश्वत के संबंध में बातचीत की थी, जिसकी आडियो रिकार्डिंग उसने लोकायुक्त को सौंपी थी। योजना के अनुसार पटवारी केशव प्रसाद ने आवेदक चंद्रशेखर को रिश्वत की रकम लेकर अपने घर बुलाया।

पटवारी ने पैसे लेकर घर बुलाया था

आवेदक चंद्रशेखर पटवारी के घर पहुंचा। उसने रिश्वत के पांच हजार पटवारी को दिए। जिसके बाद पटवारी ने उसे ऋण पुस्तिका दे दी। पटवारी ने रिश्वत में मिले पांच हजार घर में रखी टेबल के ड्राज में डाल दिए। तब तक लोकायुक्त टीम ताबड़तोड़ अंदाज में पहुंची और रिश्वत के नोट को जब्त कर पटवारी को पकड़ लिया। पकड़े जाने पर उसने शोर मचा कर घरवालों को बुला लिया। हंगामे के बाद टीम कार्रवाई कर पाई। पानी से हाथ धुलवाने पर पटवारी व आवेदक के हाथ नोट में पहले से लगाए गए रंग के कारण गुलाबी हो गए।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

पुलिस भी नहीं महफूज:तीन दिन से लापता पुलिस ASI की हत्या,हत्या के बाद शव को जंगल में दफनाया

छिंदवाड़ा/सिवनी/मप्र। मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा के चांद थाने में पदस्थ पुलिस एएसआई की प्रॉपर्टी विवाद के चलते हत्या कर दी गई। वह तीन दिन से लापता थे।...

लोकायुक्त ने एक लाख की रिश्वत लेते CMO और बाबू को रंगे हाथों दबोचा

बता दें कि नगर पालिकाओं और नगर परिषदों में इतनी लंबी राशि की रिश्वत लेना आम बात है और ठेकेदारों के द्वारा लंबी राशि...

फर्ज के लिए सीने पर चाकू खाया:बलात्कार के आरोपी ने पुलिस SI के सीने में चाकू घोंपा,हालात गम्भीर

बता दें कि घायल SI वेदप्रकाश को पुलिसकर्मी जीप से नौरोजाबाद के SECL अस्पताल ले जाया गया। यहां डॉक्टर चाकू नहीं निकाल पाए। डर...

दुःखद:भीषण सड़क हादसे में पुलिस सब इंस्पेक्टर की दर्दनाक मौत,कई पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल

बता दें कि दुर्घटना की स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि हादस में कार के परखच्चे उड़ गए। घटना से...
error: Content is protected !!