Home News Headlines VIDEO:खाकी के सांता क्लॉज,त्योहारों के सही मायने दरोगा रणजीत से सीखें

VIDEO:खाकी के सांता क्लॉज,त्योहारों के सही मायने दरोगा रणजीत से सीखें

“दुःख तो सब जताते हैं,कोई आँसू नहीं पोंछता

अपनी रोटी में से एक दे दूं,कोई नहीं सोचता”



अयोध्या/उत्तरप्रदेश………………


त्योहारों के सही मायने क्या होतें है इसका जीता जागता उदाहरण देखने को मिला। खाकी के अनेक अच्छे और बुरे रूप आपने देखें होंगे लेकिन खाकी का ये रूप भी कुछ अलग था। आज हम आपको खाकी के सांता क्लॉज से मिलवाने जा रहें हैं। दरअसल,हुआ कुछ ऐसा कि 24 दिसबंर की रात को अयोध्या सरयू के किनारे नया घाट पर सो रहे एक गरीब परिवार के पास कोहोरे को चीरती हुई एक मोटरसाइकिल उनके नज़दीक आकर रुकती है। मोटरसाइकिल से दो पुलिस वाले नीचे उतरते हैं। अचानक पुलिसवालों को पास आते देख पहले तो वे लोग सहम गए कि हमसे क्या गलती हो गयी? परन्तु जब पुलिस वाले ने उनसे प्यार से नमस्कार बोला और हाल चाल पूछा तो उन्हें सुकून मिला। फिर उनके घर परिवार के बारे में पुलिसवाले पूछने लगे। और फिर बोले बाबा हम आपके लिए कुछ उपहार लाएं हैं। और फिर उपहार को उनके हाथों में लाकर रख दिया। जब बुजुर्ग दादा ने उसे खोला तो उसमें एक चमचमाती नई जैकेट को पाकर बेहद खुश हुए। और शुरू कर दी अपने दुआओं की बारिश। पुलिस वाले मिठाई का डिब्बा उनके हाथ मे देते हुए बाबा को अपने हाथ से मिठाई खिलाई और गले लगकर क्रिसमस त्योहार की बधाई दिया। बुजुर्ग बाबा बातचीत के दौरान अपना नाम भतृहरी निवासी गोरखपुर बताए। उसके बाद दारोग़ा जी का ध्यान बगल ठंडी से सिकुड़ रहे बालक पर पड़ी उसने बातचीत में अपना नाम कृष्णा बताया। फिर उस बालक को जैकेट पहनाकर उसे भी मिठाई खिलाकर दारोगा जी गले से लगाया। बालक क्रिसमस डे पर वर्दी के रूप में आये सांता क्लाज से उपहार पाकर खुशी से झूम उठा।


क्या है पूरा मामला……………..


दरअसल,जनपद के थाना-पटरंगा में नियुक्त समाजसेवी दारोगा रणजीत यादव के लिए यह कोई नया काम नही था। वे रक्तदान,पौधरोपण, यातायात,शिक्षा और सुरक्षा के प्रति जागरूकता,गरीब और असहायों की मदद करना जैसे सामाजिक सरोकारों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हैं। रणजीत यादव ने बताया कि उनकी ड्यूटी इस समय रामजन्मभूमि परिसर सुरक्षा में चल रही है। ड्यूटी के बाद वो अपने साथ सिपाही चन्द्रेश राजभर को लेकर क्रिसमस डे पर किसी गरीब,असहाय व्यक्ति को उपहार देने के लिए नई जैकेट और मिठाई खरीदी और निकल पड़े नया घाट की तरफ जरूरत मंद की तलाश में। वहां उन्हें बुजुर्ग बाबा भतृहरि और बालक कृष्णा इस योग्य लगे। उन्हें यह जानकर बेहद खुशी हुई कि बालक कृष्णा इस परिस्थिति में भी स्कूल जाता है। वहां उन्होंने गरीब बालक को अपना मोबाइल नंबर लिखकर दिया और बताया कि तुम पढ़ाई कभी मत छोड़ना। किसी चीज की जरूरत हो तो हमे फोन करना। रणजीत यादव के लोगों से अपील किया कि आपके आस-पास भी ऐसे जरूरत मंद लोग होंगे आप भी किसी न किसी बहाने उनकी मदद करें। खाकी के इस अनूठे रूप को देखकर घाट पर काफी लोग इकट्ठा हो गए और अयोध्या पुलिस की तारीफ किया।


वीडियो देखें…………..


Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बड़ी कामयाबी:अंतर्राज्यीय हाईवे डकैती गिरोह का पर्दाफाश,15 करोड़ से अधिक के मोबाइल फोन जप्त

♠पुलिस ने एक अंतर्राज्यीय लूट का बड़ा खुलासा किया है, पुलिस ने आरोपियों के पास से 15 करोड़ के मोबाइल फोन बरामद किए हैं।...

विनम्र श्रद्धांजलि:डबरा एसडीएम राघवेंद्र पांडे का कोरोना से निधन,इलाज के दौरान दम तोड़ा

बता दें कि एसडीएम श्री पांडे के निधन की यह खबर सुनते ही पूरे जिले के प्रशासनिक एवं मीडिया जगत में दुख की लहर...

हत्या या हादसा:TI ने लॉकअप में बंद युवक को गोली मारी,मौत,SP हटाए गए,परिजन को 10 लाख की आर्थिक सहायता

बता दें कि चोरी के संदेह पर सतना जिले के सिंहपुर थाना के लॉकअप में बंद एक युवक की थानेदार की सर्विस रिवॉल्वर से...

DG पुरुषोत्तम शर्मा का पत्नी से मारपीट का वीडियो वायरल,पद से हटने के बाद बयान,घरेलू मामला खुद सुलझा लूंगा

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के स्पेशल डीजी पुरुषोत्तम शर्मा का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में आईपीएस पुरुषोत्तम शर्मा अपनी पत्नी की बेरहमी से...

Recent Comments

error: Content is protected !!