Home News Headlines अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर अनर्गल टिप्पणी कर घिरे कुशवाह,प्रदेशाध्यक्ष...

अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर अनर्गल टिप्पणी कर घिरे कुशवाह,प्रदेशाध्यक्ष तक पहुँचा मामला

ग्वालियर/मध्यप्रदेश………


पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ बेतुकी टिप्पणी करने के मामले में साडा के पूर्व अध्यक्ष जयसिंह कुशवाह घिरने लगे हैं। उनके कार्यकाल के दौरान साडा में हुई गड़बडिय़ों और घोटाले का जिन्न फिर से बाहर आ सकता है। सूत्रों की मानें तो प्रशासन ने भी फिर से उनकी फाइलें खोलने की तैयारी कर ली है। साडा क्षेत्र में हुए सडक़ निर्माण की एक शिकायत लोकायुक्त में हुई थी, जिसकी जांच अभी पूरी नहीं हुई है। इसके अलावा उन पर कई अन्य आरोप भी लगे। यह फाइलें पुन: खुल सकती हैं, जिससे साडा के पूर्व अध्यक्ष की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ सकती हैं। दरअसल साडा के पूर्व अध्यक्ष जयसिंह कुशवाह द्वारा भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ बेतुकी टिप्पणियां किए जाने का मामला गर्मा गया है। यह मामला संगठन व प्रदेश अध्यक्ष तक पहुंच गया है। पार्टी के कुछ पुराने नेताओं ने इसकी लिखित शिकायत प्रदेश अध्यक्ष से की है, जिसमें उनके द्वारा साडा अध्यक्ष रहते हुए की गईं गड़बडिय़ों और फर्जीवाड़े का भी जिक्र किया गया है। जयसिंह कुशवाह इस मामले को लेकर घिरते नजर आ रहे हैं। इस मामले को लेकर प्रशासनिक स्तर पर भी हलचल होने लगी है। 


क्या है मामला………..


गौरतलब है कि साडा के पूर्व अध्यक्ष जयसिंह कुशवाह ने पिछले दिनों संगठन की गाइड-लाइन को दरकिनार कर जन-आशीर्वाद यात्रा के बहाने पत्रकार वार्ता कर पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं पर अनर्गल आरोप लगाए थे। उन्होंने मौजूदा मंत्री, सांसद एवं पूर्व मंत्री पर भी गंभीर आरोप लगाए थे, जिसे संगठन की गाइड लाइन एवं पार्टी के अनुशासन की दृष्टि से अनुचित माना जा रहा है। पार्टी के कुछ पुराने कार्यकर्ताओं ने इसकी शिकायत भोपाल में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह सहित संगठन के कई पदाधिकारियों से लिखित में की है, जिसमें बताया है कि चुनावी वर्ष में वह वरिष्ठ नेताओं की आचोलना एवं अनर्गल टिप्पणी करके वातावरण बिगाड़ रहे हैं। इसी प्रकार का बयान उन्होंने एक वर्ष पूर्व भी दिया था। इस पर उन्हें प्रदेश कार्यालय द्वारा नोटिस दिया गया था। इसके बाद उन्हें माफी मांगना पड़ी थी और अब फिर से वह अनर्गल टिप्पणी कर रहे हैं। जब उन्होंने नगर निगम का चुनाव लड़ा था, तब उनकी जमानत जब्त हो गई थी। वह लगातार आठ साल साडा के अध्यक्ष रहे। उनके कार्यकाल में घोटाले और गड़बडिय़ां हुईं थीं, जिसकी जांच अभी भी चल रही है। उन्होंने साडा में अपने लडक़े नाम से पेट्रोल पम्प लिया। अब चुनाव के समय वह पार्टी की गाइड लाइन से हटकर माहौल खराब कर रहे हैं।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

हत्या या हादसा:TI ने लॉकअप में बंद युवक को गोली मारी,मौत,SP हटाए गए,परिजन को 10 लाख की आर्थिक सहायता

बता दें कि चोरी के संदेह पर सतना जिले के सिंहपुर थाना के लॉकअप में बंद एक युवक की थानेदार की सर्विस रिवॉल्वर से...

DG पुरुषोत्तम शर्मा का पत्नी से मारपीट का वीडियो वायरल,पद से हटने के बाद बयान,घरेलू मामला खुद सुलझा लूंगा

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के स्पेशल डीजी पुरुषोत्तम शर्मा का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में आईपीएस पुरुषोत्तम शर्मा अपनी पत्नी की बेरहमी से...

क्राइम ब्रांच ने मोस्ट वांटेड लिस्टेड गुंडे की जन्मदिन पार्टी पर दबिश दी,अवैध हथियारों के साथ बदमाश गिरफ्तार

बता दें कि मोस्ट वांटेड जुबेर मौलाना पर 80 से ज्यादा मामले दर्ज पुलिस के अनुसार यह पार्टी जुबेर मौलाना के जन्मदिन की थी।...

मध्यप्रदेश उपचुनाव के लिए कांग्रेस की दूसरी लिस्ट जारी,दलबदलुओं पर भरोसा जताया

बता दें कि मध्यप्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी दूसरी लिस्ट जारी कर दी है। इस लिस्ट...

Recent Comments

error: Content is protected !!