Home News Headlines आरआई की हिटलरशाही:RI की फटकार से,प्रधान आरक्षक की इलाज के दौरान मौत

आरआई की हिटलरशाही:RI की फटकार से,प्रधान आरक्षक की इलाज के दौरान मौत

बता दें कि मृतक को मुख्यमंत्री बाकायदा नाम से जानते थे, जब भी मुख्यमंत्री का दौरा शहडोल का होता था तो अपनी गाड़ी चलाने के लिए मिंज को ही बुलाते थे। मृतक उमरिया में था पदस्थ जिसे शहडोल अटैच किया गया था।



शहडोल/मध्यप्रदेश……………


शहडोल रक्षित निरीक्षक दिनेश मर्सकोले द्वारा डीजल डलवाने का वीडियो नही बनाने को लेकर प्रधान आरक्षक को फटकार लगाने के कारण इलाज के दौरान रायपुर में मौत हो गई हैं। परिजनों का आरोप हैं कि कई शिकायतो के बाद भी रक्षित निरीक्षक के ऊपर एफआईआर दर्ज नही किया जा रही हैं। मृतक परिजनों ने कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई है कि रक्षित निरीक्षक शहडोल की फटकार के बाद बेहोश हुए प्रधान आरक्षक की उपचार के दौरान मौत हो गई हैं।


क्या है पूरा मामला……………



प्राप्त जानकारी के अनुसार,प्रधान आरक्षक यूजिन मिंज को रायपुर के अस्पताल में ईलाज के लिए भर्ती कराया गया था। परिजनों ने बताया कि शासकीय वाहन में डीजल डलवाने की वीडियो नही बनाने के कारण रक्षित निरीक्षक दिनेश मर्सकोले ने प्रधान आरक्षक यूजिन मिंज को फोन पर जमकर फटकार लगायी थी। जिसके बाद यूजिन मिंज बेहोस होकर गिर गया था। परिजनों ने जिला अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया था, सिटी स्कैन के बाद डॉक्टरों ने यूजिन मिंज को बाहर के लिए रेफर कर दिया था। मृतक प्रधान आरक्षक यूजिन मिंज की पत्नी ने पूरे मामले की शिकायत एडीजी शहडोल से की थी, रक्षित निरीक्षक दिनेश मर्सकोले पर आरोप लगाते हुए प्रधान आरक्षक की मौत के बाद परिजनों ने थाना कोतवाली में की शिकायत।


क्या लिखा है शिकायत में……………


परिजनों द्वारा दी गयी शिकायतें


मृतक के पुत्र आलोक मिंज ने कोतवाली में जो शिकायत दर्ज कराई है, उसमें उसने उल्लेख किया है कि वह यूजिन मिंज का पुत्र है और पुलिस लाईन के क्वांटर नंबर एच.एफ. 35 में अपने माता-पिता के साथ रहता है, 7 मई की शाम पिता नित्य की भांति ड्यिुटी कर घर पहुंचे थे, रात 9.30 के आस-पास उनके मोबाइल पर आरआई (रक्षित निरीक्षक) का फोन आया और आर.आई. ने शासकीय वाहन में डीजल डलवाने का वीडियो न बनाने का कारण पूछा, मृतक ने बताया कि उसके पास महंगा वीडियो वाला सेल फोन नहीं है, वह बटन वाला मोबाइल उपयोग करता है, इस वजह से वह वीडियो नहीं बना सका, साथ ही वाहन में मौजूद अन्य कर्मचारी के पास भी स्मार्ट फोन न होने के कारण वीडियोग्राफी नहीं हो सकी। हालाकि डीजल भरवाने की जानकारी पुलिस लाईन में पदस्थ कर्मचारी को मिंज द्वारा दे दी गई थी, लेकिन रक्षित निरीक्षक इस बात पर भड़क उठे और पिता को काफी देर तक फोन पर डांटते रहे, चूंकि एक तरफ की बातें सुनाई दे रही थी। पिताजी इन बातों से काफी विचलित हो गये और थोड़ी ही देर में वे मानसिक रूप से परेशान होकर गिर पड़े। अस्पताल ले जाया गया, सिटी स्केन करवाया गया, ब्रेन हैमरेज की पुष्टि हुईं रायपुर स्थित रामाकृष्णा केयर हॉस्पिटल में ले जाकर भर्ती किया गया, इलाज के दौरान 15 मई शुक्रवार को दोपहर ढ़ाई बजे के आस-पास मौत हो गई। पुत्र ने पिता के शव का पोस्ट मार्टम और आरआई दिनेश मर्सकोले के खिलाफ अपराध कायम करने की शिकायत देकर मांग की।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

हत्या या हादसा:TI ने लॉकअप में बंद युवक को गोली मारी,मौत,SP हटाए गए,परिजन को 10 लाख की आर्थिक सहायता

बता दें कि चोरी के संदेह पर सतना जिले के सिंहपुर थाना के लॉकअप में बंद एक युवक की थानेदार की सर्विस रिवॉल्वर से...

DG पुरुषोत्तम शर्मा का पत्नी से मारपीट का वीडियो वायरल,पद से हटने के बाद बयान,घरेलू मामला खुद सुलझा लूंगा

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के स्पेशल डीजी पुरुषोत्तम शर्मा का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में आईपीएस पुरुषोत्तम शर्मा अपनी पत्नी की बेरहमी से...

क्राइम ब्रांच ने मोस्ट वांटेड लिस्टेड गुंडे की जन्मदिन पार्टी पर दबिश दी,अवैध हथियारों के साथ बदमाश गिरफ्तार

बता दें कि मोस्ट वांटेड जुबेर मौलाना पर 80 से ज्यादा मामले दर्ज पुलिस के अनुसार यह पार्टी जुबेर मौलाना के जन्मदिन की थी।...

मध्यप्रदेश उपचुनाव के लिए कांग्रेस की दूसरी लिस्ट जारी,दलबदलुओं पर भरोसा जताया

बता दें कि मध्यप्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी दूसरी लिस्ट जारी कर दी है। इस लिस्ट...

Recent Comments

error: Content is protected !!