Home News Headlines अपनों पर करम,गैरों पर सितम:लॉक डाउन में पुलिस पर,एक तरफा कार्यवाही व...

अपनों पर करम,गैरों पर सितम:लॉक डाउन में पुलिस पर,एक तरफा कार्यवाही व अवैध शराब सप्लाई के आरोप लगे

“बता दें कि अभी तक लॉकडाउन तोड़ने में जितनी भी कार्यवाही इस तरह की पुलिस ने की उसमें दुकानदार और कर्मचारी दोनों को आरोपी बनाया गया है ड्राइवर ने बयान दिए फिर भी पुलिस ने मालिक पर कार्रवाई नहीं की जो कई सवालों को जन्म दे रहा है”



ग्वालियर/मध्यप्रदेश…………….


“अपनों पर करम गैरों पर सितम”; !! जी हाँ पुलिस द्वारा की गई एक तरफा कार्यवाही से पुलिस की कार्यप्रणाली पर कुछ ऐसे की प्रश्न जन्म ले रहें हैं। शहर में आये दो मामलों में कुछ ऐसा ही प्रतीत हो रहा है।

क्योंकि?? लॉक डाउन के इस स्वर्णिम समय में कुछ लोगों ने कमाई और मुनाफाखोरी का शॉर्टकट निकाल लिया है। दरअसल,लॉकडाउन के बाद भी पान मसाले से भरा ट्रक निकालने के मामले में पुलिस ने ट्रक चालक को आरोपी बनाया है। जबकि मालिक पर कोई कार्यवाही नहीं की। इस समय ट्रक भरकर निकालने को मुनाफाखोरी से जोड़ा जा रहा है। क्योंकि बाजार में राजश्री गुटखा दो से तीन गुना दाम पर मिल रहा है।


क्या है पूरा मामला……………..


प्राप्त जानकारी के अनुसार,बहोड़ापुर तिराहे पर क्राइम ब्रांच ने राजश्री पान मसाले से भरा ट्रक शनिवार-रविवार की रात को पकड़ा था। इसमें 17 लाख रुपए का माल भरा हुआ था। राजू नागरिया के गोदाम से यह ट्रक निकला था। राजू नागरिया ने पुलिस को बताया था कि उसके गोदाम में 9-10 अप्रैल की रात चोरी हो गई थी, इसलिए वह माल दूसरे गोदाम में ले जा रहा था। इसकी एफआईआर उसने 11 अप्रैल शाम को ही कराई थी। पहले तो यह आशंका थी कि जो माल चोरी बताया गया है, उसे ही शिफ्ट किया जा रहा था। लेकिन उसने सीसीटीवी कैमरे दिखा दिए। सीसीटीवी कैमरे में युवक दिख रहे हैं, जिन्हें वह चोर बता रहा है। लेकिन इसे लेकर जांच चल रही है। उधर पुलिस ने सिर्फ ट्रक चालक को इस मामले में आरोपी बनाया। जबकि लॉकडाउन तोड़ने में जितनी भी कार्रवाई इस तरह की पुलिस ने की उसमें दुकानदार और कर्मचारी को आरोपी बनाया। ड्राइवर ने बयान दिए फिर भी पुलिस ने उस पर कार्रवाई नहीं की।

जांच चल रही है।


इनका कहना……………


ट्रक चालक ने बताया है कि माल राजू नागरिया ने भरवाया था। माल कहां ले जाया जा रहा था, यह पड़ताल चल रही है। जांच में वह दोषी पाया जाएगा तो उस पर भी एफआईआर दर्ज की जाएगी।


–दामोदर गुप्ता, टीआई, थाना क्राइम ब्रांच।




पुलिस ने तीन लाख कीमत की अवैध शराब पकड़ी,लेकिन पुलिस पर ही लगे सप्लाई के आरोप


ग्वालियर………..



बहोड़ापुर थाना पुलिस ने लॉक डाउन के दौरान तस्करी कर ले जाई जा रही अवैध शराब से भरा मैजिक वाहन पकड़ा है, जिसमें लगभग तीन लाख रुपए कीमत की 87 पेटी अवैध शराब मिली है। पुलिस ने आरोपी चालक को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ शुरू कर दी है। बहोड़ापुर थाना प्रभारी इंदरसिंह राठौर सोमवार सुबह अपनी टीम के साथ क्षेत्र में गश्त कर रहे थे, इसी दौरान विनय क्षेत्र से होकर गुजरते समय उन्हें एक टाटा मैजिक वाहन क्रमांक एमपी07 एल 5006 नजर आया, जिसका चालक पुलिस को देखकर वाहन मोड़कर भागने लगा। शंका होने पर पुलिस ने पीछा कर जब वाहन को रोककर उसकी तलाशी ली, तो उसमें 87 पेटी देशी प्लेन व मसाला शराब भरी हुई थी। पुलिस ने जब ड्राइवर से शराब परिवहन करने संबंधी दस्तावेज मांगे, तो वह कोई भी कागजात नहीं दिखा सका, जिस पर पुलिस वाहन व शराब को जब्त करने के साथ ही आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार कर थाने ले आई। यहां पूछताछ में उसने अपना नाम पदम सिंह जाटव निवासी उपनगर ग्वालियर बताया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर उससे पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस द्वारा बरामद की गई शराब की कीमत लगभग तीन लाख रुपए बताई गई है। सुबह गश्त के दौरान एक टाटा मैजिक में भरी 87 पेटी देशी शराब पकड़ी गई है, मौके से आरोपी ड्राइवर को भी गिरफ्तार किया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है।


आरोपी के पिता ने पुलिस पर लगाये गंभीर आरोप…………….


आरोपी ड्राइवर के पिता राजू जखौदिया ने कहा है कि वे गोल पहाड़ियां पर रहतें हैं। मेरे बेटा सब्जी मंडी में गाड़ी चलाता है। पुलिस ने उनके बेटे को गलत फसाया है। उन्होंने गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा है कि रात को जनकगंज थाने के कुछ पुलिसकर्मी आये और मेरे बेटे को घर से बुलाकर ले गए और जबरन गाड़ी में शराब भरवाई। उन्होंने ने आरोप लगाते हुए कहा कि DAIL-100 उसे शहर से निकालते हुए ले गयी और जब विनय नगर में चेकिंग देखी तो DAIL-100 उसे अकेला छोड़कर भाग गई। और अब पुलिस के अधिकारी हम गरीबों की बात नही सुन रहें हैं।

उधर शराब सप्लाई में पुलिस की भूमिका के सवाल पर सीएसपी जाँच का भरोसा दिला रहें हैं। उन्होंने ने कहा वह मामले की जाँच कर रहें हैं। यदि कोई तध्य निकल कर आये तो कार्यवाही की जाएगी।

बहरहाल पुलिस जिस तरह से लॉक डाउन में अवैध शराब माफियाओं के खिलाफ एक्शन ले रही है ये उसकी सक्रियता को दर्शाता है।

लेकिन यदि,आरोपी ड्राइवर के पिता के आरोप सही निकले और अवैध शराब सप्लाई में पुलिस की भूमिका निकल कर सामने आती हैं तो यह एक गम्भीर बात होगी वरिष्ठ अधिकारियों को इस पर तत्काल एक्शन लेना चाहिए।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

विनम्र श्रद्धांजलि:डबरा एसडीएम राघवेंद्र पांडे का कोरोना से निधन,इलाज के दौरान दम तोड़ा

बता दें कि एसडीएम श्री पांडे के निधन की यह खबर सुनते ही पूरे जिले के प्रशासनिक एवं मीडिया जगत में दुख की लहर...

हत्या या हादसा:TI ने लॉकअप में बंद युवक को गोली मारी,मौत,SP हटाए गए,परिजन को 10 लाख की आर्थिक सहायता

बता दें कि चोरी के संदेह पर सतना जिले के सिंहपुर थाना के लॉकअप में बंद एक युवक की थानेदार की सर्विस रिवॉल्वर से...

DG पुरुषोत्तम शर्मा का पत्नी से मारपीट का वीडियो वायरल,पद से हटने के बाद बयान,घरेलू मामला खुद सुलझा लूंगा

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के स्पेशल डीजी पुरुषोत्तम शर्मा का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में आईपीएस पुरुषोत्तम शर्मा अपनी पत्नी की बेरहमी से...

क्राइम ब्रांच ने मोस्ट वांटेड लिस्टेड गुंडे की जन्मदिन पार्टी पर दबिश दी,अवैध हथियारों के साथ बदमाश गिरफ्तार

बता दें कि मोस्ट वांटेड जुबेर मौलाना पर 80 से ज्यादा मामले दर्ज पुलिस के अनुसार यह पार्टी जुबेर मौलाना के जन्मदिन की थी।...

Recent Comments

error: Content is protected !!