Home News Headlines अंतरराज्यीय इनामी महिला डकैत साधना पटेल गिरफ्तार,जानिए.... दस्यु सुंदरी की पूरी कहानी

अंतरराज्यीय इनामी महिला डकैत साधना पटेल गिरफ्तार,जानिए…. दस्यु सुंदरी की पूरी कहानी

बता दें कि उत्तरप्रदेश पुलिस के हवाले से यह चर्चा थी कि साधना पटेल ने आत्म समर्पण किया है। इस पर सतना के एसपी रियाज इकबाल का कहना है कि उत्तर प्रदेश पुलिस कुछ भी बोले, उसे क्या मतलब है। यह हमारी पुलिस की कार्रवाई है। उत्तर प्रदेश पुलिस हमारे साथ नहीं थी।



सतना/मध्यप्रदेश……………….


मध्य प्रदेश के सतना जिले की पुलिस ने शनिवार को दस्यु सुंदरी साधना पटेल को गिरफ्तार कर लिया है। साधना पटेल पर 20 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था। 20 हजार की इनामी दस्यु सुंदरी पर 30 हजार रुपये इनाम बढ़ाने के लिए पूर्व में पुलिस महानिरीक्षक रीवा जोन को प्रतिवेदन भेजा गया था। साधना पटेल को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम की पुरस्कृत किया जाएगा। दरअसल मध्यप्रदेश-उत्तरप्रदेश की सीमा से लगे दस्यु प्रभावित क्षेत्र से दुर्दांत डकैत बबुली व लवलेश का सफाया करने के बाद सतना पुलिस ने शनिवार को तराई क्षेत्र में सक्रिय एकमात्र महिला अंतरराज्यीय डकैत गिरोह की सरगना साधना पटेल (21) को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने महिला डकैत के कब्जे से 315 बोर की एक देसी रायफल, 1 बिनडोरिया (4 कारतूस व 21 खोखे लगे) व दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद की है।

दस्यु सरगना पर मध्य प्रदेश-उत्तर प्रदेश पुलिस ने 10-10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। एसपी रियाज इकबाल ने रविवार को बताया कि सतना पुलिस साधना पटेल गिरोह पर नजर रख रही थी। जानकारी मिली कि साधना पटेल अपनी गैंग के साथ मझगवां थाने के कड़ियन मोड़ के जंगल के पास देखी गई है। पुलिस टीमों ने घेराबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया।

अपर एसपी गौतम सोलंकी, एसओ मझगवां, एसओ सिंहपुर और कई थानों की पुलिस फोर्स लेकर घेराबंदी की गई। बड़ी मुश्किल से पुलिस साधना पटेल को गिरफ्तार करने में कामयाब हुई। हालांकि, उसके साथ मौजूद कई अन्य लोग पुलिस का घेरा तोड़कर भागने में कामयाब हो गए।



साधना की मोहब्बत से लेकर डकैत बनने की कहानी…………….


सतना एसपी ने बताया कि चित्रकूट जिले के रामपुर पालदेव के बगहिया पुरवा के बुद्धबिलास पटेल की पुत्री बचपन से अपनी बुआ के पास रहती रही है। उसकी बुआ के संबंध 85 हज़ार के इनामी डकैत चुन्नीलाल पटेल से थे, तभी से साधना डकैतों की सोहबत मे पड़ गई। जवान होने पर उसकी नज़दीकी डाकू नवल धोबी से बढ़ गई और उसके संपर्क में आकर बंदूक उठा ली और बीहड़ों मे कूद पड़ी। गैंग की कमान संभालने के बाद नवल अक्सर उसे अपने साथ रखता था पर वारदात के दौरान घर भेजा देता था।

नवल के पकड़े जाने के बाद साधना ने खुद का गिरोह बना लिया, इसके गिरोह मे दीपक शिवहरे, रवि शिवहरे, ज्ञानेंद्र पटेल आदि युवक शामिल हो गए। इन लोगों ने लूटपाट, अपहरण, मारपीट, आदि की कई वारदातें कीं। गिरोह के कई सदस्यों के पकड़े जाने पर साधना अकेली रह गई। पुलिस के दबाव से परेशान होकर वह लगातार छिपकर इधर-उधर घूम रही थी लेकिन आखिर में पकड़ी ही गई। एसपी ने बताया कि मझगवां थाने मे अपराध संख्या 128/29 धारा 25/27 आर्म्स ऐक्ट,11/13 एडी ऐक्ट आदि के तहत मुकदमा दर्ज करके साधना को जेल भेजा गया है


महिला डकैत की आपराधिक पृष्ठभूमि……………


– साधना पटेल के खिलाफ सतना जिले के थाना नयागांव, मझगवां और बरौंधा थाने में पांच अपराध पंजीबद्ध हैं।


– साधना पटेल उर्फ बेलनी पिता स्व. बुद्धविलास पटेल मूलत: रामपुर पालदेव के बगहिया भरवा पुरवा चौकी भरतकूप, थाना कोतवाली कर्वी जनपद चित्रकूट उत्तर प्रदेश की रहने वाली है।


-कुख्यात डकैत चुन्नी लाल पटेल से उसकी बुआ के घनिष्ठ संबंध थे।


-वह डकैत नवल धोबी गिरोह की सक्रिय सदस्य बनी, लेकिन गिरोह के कई सदस्य पुलिस गिरफ्त में आ गए तो खुद का गैंग बना लिया।


-वह अपहरण, ठेकेदारों से रंगदारी के साथ राहगीरों व आमजन के साथ मारपीट व लूट करती थी।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

दुःखद:ड्यूटी पर जाते समय सड़क दुर्घटना में आरक्षक की दर्दनाक मौत,तीन घायल

शाजापुर/मध्यप्रदेश। झाबुआ जिले में पदस्थ आरक्षक की सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई। दरअसल,अपने घर से ड्यूटी जाते समय थाना सुनेरा के भीलवाडिया जोड़...

क्राइम के बादशाह MLA:कांग्रेस विधायक विपिन वानखेड़े और TI के बीच बहस का वीडियो वायरल

बता दें कि कांग्रेस विधायक विपिन वानखेड़े वर्तमान में एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष हैं और यूथ कांग्रेस के प्रबल दावेदार हैं। सोमवार को बड़ौद...

लोगों की सेवा करतें हुए कोरोना से शहीद हुए युवा डॉ शुभम उपाध्याय,इलाज के दौरान दम तोड़ा

बता दें कि भोपाल में उनका स्वास्थ्य लगातार बिगड़ता चला गया। परिजन आर्थिक रूप से भी परेशान हो गए। ऐसे में सागर के लोगों...

BIG SALUTE:आरक्षक ने एक साल का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में दान किया

जांजगीर-चंपा/छत्तीसगढ़। खाकी के आपने कई रंग देखे होंगें पर कुछ अच्छे और कुछ बुरे पर खाकी का ये रंग अनोखा है। लोग इसकी भूरी-भूरी प्रशंसा...
error: Content is protected !!