Home News Headlines पुलिस ने फर्जी IPS अधिकारी को पकड़ा,क्राइम ब्रांच का अफसर बन लोगों...

पुलिस ने फर्जी IPS अधिकारी को पकड़ा,क्राइम ब्रांच का अफसर बन लोगों को ठगा

बता दें कि पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसका बचपन से ही पुलिस अधिकारी बनने का शौक था। वह अपने बचपन का शौक पूरा करने के लिए नकली पुलिस अधिकारी बनकर कमाई करने लगा। इस शौक को पूरा करने के चक्कर में लगभग प्रदेश के कई जिलों में दबोचा गया है। जेल से छूटने के बाद ठिकाना बदलकर वसूली करने में संलिप्त हो जाता था।



सिंगरौली/मध्यप्रदेश…………


पुलिस ने ऐसे शख्स को पकड़ा है, जो नकली क्राइम ब्रांच अफसर बनकर लोगों से वसूली करता था। पिछले चार साल से ये फर्जी पुलिस अफसर लोगों को डरा धमकाकर वैसे वसूल रहा था। लेकिन एक शिकायत के आधार पर पुलिस ने उसे जाल बिछाकर पकड़ लिया। फर्जी पुलिस अफसर बने आरोपी के बैग में पुलिस की वर्दी, नेम प्लेट एवं वर्दी बरामद हुई है।



क्या है पूरा मामला………….


पुलिस ने बताया कि, गत 13 मई को फरियादी राम नरेश शाह ने कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराया था कि सूरज धुर्वे नाम का शख्स खुद को क्राइम ब्रांच का अफसर बता कर पैसों की मांग कर रहा था, उसने बकायदा वर्दी पहन रखा है और उसकी वर्दी पर सूरज धुर्वे नाम का नेमप्लेट भी लगा है। फरियादी के अनुसार उसे पूरा विश्वास है कि वह कोई अधिकृत पुलिस अफसर नही है। फर्जी पुलिस अफसर की सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आई और शातिर फर्जी पुलिस अफसर को बरगवां रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। तलाशी लेने पर उसके पास से पुलिस की वर्दी नेमप्लेट बरामद हुई। पूछताछ के दौरान वो बार-बार पुलिस को गलत नाम बता रहा था। जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ कि तो उसकी पहचान भगवानदास पनिका (25) पिता रामलाल पनिका निवासी माटा गड़ई थाना जियावन है। आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 171, 419, 420, 390 के तहत मामला दर्ज कर उसे न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया है।


अपराधी को पकड़ने में इनकी रही सराहनीय भूमिका………..


एसपी दीपक शुक्ला के निर्देशन व एएसपी प्रदीप शेंडे के मार्गदर्शन, सीएसपी अनिल सोनकर की निगरानी व कोतवाल मनीष त्रिपाठी के नेतृत्व में उप निरीक्षक अभिषेक पाण्डेय, संतोष सिंह, डीएन सिंह, अवधेश पटेल, प्रवीण सिंह, जितेंद्र सिंह सेंगर, महेश पटेल, संजय सिंह परिहार आदि शामिल रहे।


इनका कहना…………..


एएसपी शेंडे ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आदतन अपराधी है और फर्जी अफसर बनकर 2015 से वसूली का काम कर रहा है और जबलपुर, सतना, नरसिंहपुर में फर्जी पुलिस अफसर बन वसूली करते दबोचा भी गया। वो ऐसे मामलों में कई बार जेल भी जा चुका है। 2018 में एक महिला और ड्राइवर के साथ मिलकर वसूली के आरोप में नरसिंहपुर पुलिस ने इसे जेल भेजा था, जो तकरीबन 8 माह की सजा काटने के बाद रिहा हुआ और सिंगरौली जिले में ऐसी वारदातों को अंजाम देने लगा।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

हत्या या हादसा:TI ने लॉकअप में बंद युवक को गोली मारी,मौत,SP हटाए गए,परिजन को 10 लाख की आर्थिक सहायता

बता दें कि चोरी के संदेह पर सतना जिले के सिंहपुर थाना के लॉकअप में बंद एक युवक की थानेदार की सर्विस रिवॉल्वर से...

DG पुरुषोत्तम शर्मा का पत्नी से मारपीट का वीडियो वायरल,पद से हटने के बाद बयान,घरेलू मामला खुद सुलझा लूंगा

भोपाल/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के स्पेशल डीजी पुरुषोत्तम शर्मा का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में आईपीएस पुरुषोत्तम शर्मा अपनी पत्नी की बेरहमी से...

क्राइम ब्रांच ने मोस्ट वांटेड लिस्टेड गुंडे की जन्मदिन पार्टी पर दबिश दी,अवैध हथियारों के साथ बदमाश गिरफ्तार

बता दें कि मोस्ट वांटेड जुबेर मौलाना पर 80 से ज्यादा मामले दर्ज पुलिस के अनुसार यह पार्टी जुबेर मौलाना के जन्मदिन की थी।...

मध्यप्रदेश उपचुनाव के लिए कांग्रेस की दूसरी लिस्ट जारी,दलबदलुओं पर भरोसा जताया

बता दें कि मध्यप्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी दूसरी लिस्ट जारी कर दी है। इस लिस्ट...

Recent Comments

error: Content is protected !!