Home News Headlines बूथ पर कब्जा करने आये उपद्रवियों से बहादुर सैनिक ने डटकर किया...

बूथ पर कब्जा करने आये उपद्रवियों से बहादुर सैनिक ने डटकर किया सामना,एक दर्जन पर FIR दर्ज

“बता दें कि इस बार भिंड में न केवल मतदान का प्रतिशत बढ़ा है बल्कि भिंड के इतिहास में सबसे ज्यादा हिंसा रहित चुनाव भी संपन्न हुआ है”



भिंड/मध्यप्रदेश………….


प्रदेश की आठों लोकसभा सीटों सहित भिंड में इस बार लोकसभा चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ लेकिन भिंड के जैतपुरा मतदान केंद्र क्रमांक 69 और 70 पर मतदान को प्रभावित करने वाले कुछ उपद्रवियों से होमगार्ड सैनिक बैगसिंह की झड़प हो गई। उपद्रवियों ने सैनिक के साथ मारपीट भी की जिसमें उसके सिर पर चोट आई, लेकिन भोपाल में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बी एल कांताराव इससे साफ इंकार कर गए कि भिंड में सैनिक के साथ मारपीट हुई है उन्होंने केवल झूमा झटकी होना बताया। लेकिन बीती रात सैनिक के साथ मारपीट के मामले में 10 से 12 अज्ञात लोगों के खिलाफ संगीन धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपियों की भिंड पुलिस ने तेजी से तलाश शुरू कर दी है।


क्या है मामला…………


दरअसल केंद्र क्रमांक 69- 70 जेतपुरा मिडिल स्कूल पर सैनिक बैग सिंह के साथ मारपीट के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। मिहोना थाने में 10-12 अज्ञात लोगों पर धारा 353, 332 व 147 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। सैनिक के साथ मारपीट के मामले में खुद मिहोना थाना प्रभारी मनोज राजपूत फरियादी बने हैं। ज्ञात हो बीते रोज भोपाल में प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया से मुख्य चुनाव पदाधिकारी बीएल कांता राव ने कहा था सैनिक के साथ मारपीट नहीं हुई, केवल झूमाझटकी हुई थी,तो फिर संगीन धाराओं में एफआईआर दर्ज कैसे हुई ???

गलत कौन ?????

इस मामले में या तो मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने मीडिया से कुछ छिपाने की कोशिश की है या फिर भिंड के अधिकारियों के द्वारा उन्हें गलत सूचना देकर अवगत कराया गया। जिसकी वजह से उन्होंने मीडिया के सामने मारपीट की घटना को स्वीकार नहीं किया। जबकि होमगार्ड सैनिक बैगसिंह के सिर में चोट आई और पट्टी भी बांधी गई।


बहादुर सैनिक को सम्मानित करने की,मांग उठी………



मिहोना क्षेत्र के जैतपुरा मतदान केंद्र क्रमांक 69 – 70 को अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों की श्रेणी में रखा गया था, यहां पर न केवल होमगार्ड सैनिक के स्थानीय पुलिस बल की सीआरपीएफ के सैनिकों को भी तैनात किया गया था। उपद्रवियों ने जब मतदान को प्रभावित करने का प्रयास किया तो सैनिक बैग सिंह उनके सामने अड़ गए और मतदान को प्रभावित करने से रोकने के लिए अपनी जान को जोखिम में डाल दिया इसके लिए सैनिक बैग सिंह को चुनाव आयोग और पुलिस के द्वारा सम्मानित किया जाना चाहिए, ऐसी मांग अब क्षेत्र में उठ रही है।

Live Share Market :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

BIG SALUTE:सिपाही के जज्बे को सलाम,16 माह में बरामद कराईं 626 लड़कियां,DG मेडल को भेजा नाम

बता दें कि आगरा से 706 लड़कियां लापता थीं। इनकी तलाश को एसएसपी ने सर्विलांस सेल के सिपाही राजुकमार को लगाया। राजुकमार ने जानकारी...

साल में सिर्फ एक बार खुलने वाले:400 साल पुराने कार्तिकेय भगवान के पट भक्तों के लिए खुलेें

बता दें कि मंदिर के पुजारी के अनुसार कार्तिकेय के श्राप के कारण 364 दिन उनके दर्शन करना निषेध है, लेकिन कार्तिकेय के जन्मदिवस...

क्राइम ब्रांच ने 8 देशी पिस्टल के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया

बता दें कि ग्वालियर चम्बल संभाग के जिलों में खरगोन जिले से लगातार अवैध हथियारों की खेप आ रही है ऐसा नही है कि...

महिला निरीक्षक (TI) का रिश्वत लेने का ऑडियो वायरल,SP ने लाइन अटैच किया

नीमच/मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के नीमच जिले में एसपी मनोज कुमार राय ने बड़ी कार्रवाई की है। सोशल मीडिया पर ऑडियो वायरल होने के बाद एसपी ने...
error: Content is protected !!